दोनों बहनों की कामकथा – 2

फिर अंकल ने अपना हाथ आगे किया और आईना की दोनों टाँगो के बीच उसकी चूत को टटोलने लगे। आईना ने भी अपने पैर हल्के से फैला लिए और दूसरा आदमी उसकी गांड और गोरे-गोरे चूतड़ों को अपने दोनों हाथों से मसलने लगा। अब अंकल अपने एक हाथ से आईना की चूत सहलाने लगे और दूसरे हाथ से उसकी टी-शर्ट के ऊपर से उसके बूब्स को मसलने लगे।

Read More »

दोनों बहनों की कामकथा – 1

उसका गाउन भी खोल दिया और हम दोनों के नंगे बदन फिर से टकरा गये और एक दूसरे को स्मूच करने लगे, स्मूच करते करते ही में उसे बेड तक ले गई और फिर हम दोनों बेड पर गिर गये और में आईना के ऊपर थी और उसके होठों को बुरी तरह चूसने लगी और उसके बूब्स को मसलने लगी। फिर उसने अपनी टांगो को चोड़ा कर दिया, जिससे मेरी चूत उसकी चूत के ऊपर आ गई

Read More »

पापा की फ्रेंड की बेटी के साथ चुदाई का परम सुख

हाई गाय्ज, माय नाम इस सेक्स सिंह. थोड़ा अजीब सा नाम है, लेकिन ये मेरा असली नहीं स्टोरी वाला नाम है. सेक्स सिंह से आपको पता चल जाएगा, कि मुझे सेक्स का कितना शौक है. आज तो मैं आपको स्टोरी सुना रहा हु, वो मेरा रिसेंटली हुआ सेक्स एक्सपीरियंस है, …

Read More »

अर्जुन ने मुझे पटक पटक कर चोदा और गर्भवती कर दिया

उसके बाद मेरे दोनों बेटों ने अपनी अपनी टीशर्ट जींस निकाल दिए। अपने अपने कच्छे निकाल दिए। आज पहली बार मैंने अपने बेटे के लम्बे लम्बे खीरे (लौड़े) देखे। जब दोनों छोटे थे तो उनके लंड किसी छोटी पेन्सिल की तरह दिखते थे, पर अब मेरे करन अर्जुन जवान हो चुके थे और उनके लौड़े अब किसी पेंसिल की तरह पतले और छोटे नही थे,

Read More »

सात साल बाद चुदी हूँ मैं- 7 sal bad chudi hu mai

हाई दोस्तों, ये बात हें दिसम्बर महीने की जब मै अपने काम से हैदराबाद से बैंगलोर जा रहा था | मुझे बस मै जाना था पर मै लेट हो गया सो मुझे जिस बस मै जाना था वो नही मिला पर केसे भी कर के उसदिन की सबसे आखिरी बस …

Read More »

मम्मी को अपने दोस्त से चुदवाया

प्रेषक : शिवम … हैल्लो दोस्तों.. मेरा नाम शिवम जैन है और में जयपुर का रहने वाला हूँ.. दोस्तों में आज आप सभी को xvasna.com पर अपनी एक सच्ची कहानी सुनाने जा रहा हूँ जिसमे मैंने और मेरे दो पक्के दोस्तों ने मेरी मम्मी को पटाकर चुदवाया। हम तीनों जयपुर …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें