Home / sexolic (page 3)

sexolic

मैं और मेरी प्यारी दीदी भाग – ३२

ये कहानी मैं और मेरी प्यारी दीदी का पार्ट है आगे की कहानी >>> जब प्रीती दीदी के हाथ से मेरा मुट निकला तो मेरे मन को एक अजीब से शांति मिली मेरा सारा मुट मेरे ही लोअर पे गिर गया था और थोडा सा प्रीती दीदी के हाथ पे भी …

Read More »

मैं और मेरी प्यारी दीदी भाग – ३१

ये कहानी मैं और मेरी प्यारी दीदी का पार्ट है आगे की कहानी >>> शिप्रा दीदी मेरा पूरा लंड अपने मुह में लेके उसे चूसने लगी वो मेरा लंड चूस रही थी और मैंने अपना हाथ लम्बा करके उनके लटके हुए नंगे बोबे को पकड़ लिया और उसे दबाने लगा फिर …

Read More »

मैं और मेरी प्यारी दीदी भाग – ३०

ये कहानी मैं और मेरी प्यारी दीदी का पार्ट है आगे की कहानी >>> अब मैं अपने पैर से शिप्रा दीदी की दोनों झांघो को सहलाना लगा शिप्रा दीदी का बरमूडा उनकी झांघो तक था मैं अपना पैर शिप्रा दीदी की नंगी झांघों पर फेरने लगा जैसे जैसे मेरा पैर ऊपर …

Read More »

मारवाड़ी आंटी की चुदाई करके उन्हें प्रेग्नेंट किया- भाग 2

मारवाड़ी आंटी की चुदाई करके उन्हें प्रेग्नेंट किया- भाग 1 अब तक आपने पढ़ा.. मेरी पड़ोसन जया आंटी ने संतान पाने के लिए मुझसे शारीरिक सम्बन्ध बनाना तय कर लिया था बस अंकल से सहमति लेना बाकी थी। अब आगे.. रात को करीब 11 बजे उनका मैसेज आया ‘मेरे पति …

Read More »

मारवाड़ी आंटी की चुदाई करके उन्हें प्रेग्नेंट किया- भाग 1

हैलो फ्रेंड्स.. मेरा नाम अभिषेक है, मैं नागपुर से हूँ और एक नामचीन कंपनी में एच आर हूँ। आज मैं आप सबके सामने अपनी रियल लाइफ की घटना लेकर आया हूँ। ये सत्य घटना होने की वजह से थोड़ी लंबी है.. पर बड़ी रसीली है। इस कहानी में मई आपसे …

Read More »

मैं और मेरी प्यारी दीदी भाग – २९

ये कहानी मैं और मेरी प्यारी दीदी का पार्ट है आगे की कहानी >>> उसने मुझे बहुत बोला की शिप्रा थोडा सा ऊपर करने दे लेकिन मैं नहीं मानी मुझे बहुत डर लग रहा था फिर वो और नीचे गया और सलवार पे से मेरी वेजिना पे किस करने लगा मुझे …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें