Home / हिंदी सेक्स कहानियाँ / कॉलेज सेक्स / फेसबुक पे पटाया और होटल के कमरे में चोदा

फेसबुक पे पटाया और होटल के कमरे में चोदा

हेलो फ्रेंड मेरा नाम सुभाष है, मैं देखने में बहुत ही हॉट हु, आज मैं भी एक कहानी कहानी सेक्स डॉट कॉम पे पोस्ट कर रहा हु, जो की मेरे एक फ्रेंड जो फेसबुक की फ्रेंड है मैंने उसकी चुदाई की थी, आज मैं आपको उसी की कहानी बता रहा हु,

मैं फेसबुक पे काफी ज्यादा समय बिताता और खूब एन्जॉय करता मेरे फ्रेंड्स लिस्ट में कई सारे फ्रेंड्स है खासकर के जो भी लड़की दिखी मैं उसको फ्रेंड्स रिक्वेस्ट भेज देता, और एक दिन यही जूनून मुझे चोदने का मौका दे दिया वो कैसे आप निचे की कहानी को पढ़े और एन्जॉय करें

मीन्स पूजा नामे की लड़की ने मेरी फ्रेंड्स रिक्वेस्ट एक्सेप्ट की, जो अजमेर से थी , हम रत भर चेटिंग करते थे , आंड शी फॉल इन लोवे वित मई , सो हम बॉय फ्रेंड और गर्ल फ्रेंड बन गये, ओर हम कॉल पे ह हॉट बाते करते थे, हमने सेक्स करने का प्लान बनाया अजमेर, सो कुछ दिन बाद ह मे अजमेर चला गया बस से और पहुच गया सुबह 11 ब्जे , वो ब घर से कॉलेज के बहाने आ गई मेरे पास बस स्टॅंड, वो दिखने मे मस्त पताका लगती थी, फिगर तो मस्त था हु, बूब और गांड हॉट लग रही थी, वो सलवार कुर्ता पहंके आई थी, मे तो मन ही मन मे खुश होकर सोचने लगा की आज तो इसकी चुदाई करके बहुत मजा आएगा , हमने साथ जाकर 1 होटेल मे रूम लिया ये बोलकर की कल हमारे एग्ज़ॅम है सो एक दिन के लिए होटल का कमरा चाहिए !!

फिर रूम मे जाते ह हुँने मस्त स्मूच किया और एक दूसरे के होठ को चूसने लगे, हम दोनों काफी सेक्सी हो गए थे, वो बहुत मजा ले रही थी.

मेरा हाथ उसके कुर्ते क उपर से उसके बूब्स को सहला र्हे थे , वो ब मचल रही थी , वो मेरी जीन्स क उपर से ह मेरे पेनिस को फील करने ल्गी जो की फुल टाइट हो चुका था, कहने लगी की अमित तुम तो मस्त हॉट हो यार, मुझे तो तुमसे और तेरे लण्ड से प्यार हो गया है ओर मेरे फेस को चाटने लगी आंड किस्सिंग करने ल्गी,

मेने उसका कुर्ता खोला , आंड उसने ब मेरी त-शर्ट उतार दी ,

ह्म क्या ब्टौ यारूऊ मस्त बूब्स थे बड़े बड़े ब्रा मे, मे तो बॅस उसके बूबे मसालने लगा आंड जल्दी उसकी ब्रा ब खोल दी आंड बूब्स चूसने लगा उसको बेड पे सुलके ,

वो तड़प र्ही थी अपने लेग्स को हिला र्ही थी कभी इधर उधर, मीन्स उसकी हॉट पुसी तड़प र्ही थी फक्किंग क लिए.

फिर मे उसको उपर से नीचे तक किस्सिंग करने लगा ओर उसकी सलवार आंड पनटी ब साथ मे उतार दी,

ओह वाउ क्या छूट थी उसकी, मस्त साइज़ था उसके नीचे के पोर्षन का भी, मस्त फिट पुसी आंड आस थी, ऐसा लग रा था की ये तो मस्त मज़ा देगी आज,

ओर मे उसकी चूत को चूसने लगा उसके लेग्स फेलकर, वो ब मेरे फेस को अपनी चूत पे पुश क्र र्ही थी, ओर मे उसको मज़ा दिया उसकी हॉट पुसी चुस्कर, मस्त थोड़ी सी फुल्ली होई थी उसकी पुसी. ओर वो बहुत तड़पने लगी अपनी पुसी की फक्किंग के लिए, मे भी उसकी पुसी को चूस्ते चूस्ते अंदर 2 फिंगर डाल दी ओर अंदर बाहर करने लगा इससे उसका रस स्पर्म निकल गया ओर वो रिलॅक्स हो गयइ,

फिर रूचि मेरे उपर आई ओर मेरी जीन्स आंड अंडरवेर खोल दिया, आंड मेरा हार्ड पेनिस देखके वो बोली की यार अमित तेरा तो मस्त ह यार, इतना टाइट हो रखा ह तो फिंगर क जगह ये डालके फाड़ देते मेरी पुसी , मेने खा अभी वो तो करना ही ह मेरी जान,

फिर वो मेरे पेनिस को मस्ती से चूसने लगी ओर उपर नीचे करने ल्गी , ँझे तो भूत मस्त फील हो रा था, वो पूरा मूह मे डालकर छू’स र्ही थी, ऐसा लग रा था की वो एक्सपर्ट ह, बुत रूचि ने ंझसे पहले कॉल पे बोला था की वो वर्जिन ह, बुत एनीवेस वो ँझे मस्त मज़ा दे र्ही थी ओर मेरा ब स्पर्म निकल गया, उससे बेड शीट ब खराब हो गयइ थी

फिर हम दोनो एक दूसरे से चिल्पक क लेट गये,

करीब 10 मीं बाद हम फिर से किस्सिंग करने लगे ओर उसने बोला की अमित नाउ फक मे यार, मुझे तुम्हरा ये हार्ड पेनिस अपने अंदर लेना ह.

ओर वो नीचे जाकर मेरा लंड चूसने लगी ओर उसने चुस्के वापिस मेरे.पेनिस को हार्ड कर दिया अपनी पुसी क लिए तैयार कर दिया , ओर उसने मेरे पेनिस पे कॉंडम पहनाया ओर फिर मेने उसको बेड पे सीधा लेटया, ओर उसने अपने पेर फेला दिया ओर मे उसकी हॉट पुसी मे डालने ल्गा,

करीब 2-3 झटको मे उसकी पुसी मे पूरा घुस गया ओर वो तो मस्त आवाज़े निकल र्ही थी जेसे ही मेने डाला वो बड़ी हॉट सी आवाज निकलने लगी, वो मस्ती में आ गयी थी वो बस चुदना और चुदना चाह रही थी.

ओर फिर स्लोली उसको फक करना स्टार्ट किया ओर वो बोले जा रही की अया अयाया उहह आआआः अमित तुम बहुत हॉट हो यार, आज मेरी हॉट पुसी की भूख मिटा दो यार, जब से तुम मिले हो तब से इस दिन का इंतज़ार कर रही थी, मेने कहा फाइनली ये दिन आ गया तो आज तुमको मस्त चुदाई करूँगा.

ओर बा’स अब मे उसको फस्टली फक करने लगा ओर उसका तो निकल गया ओर वो रिलॅक्स हो गई पर मे अभी भी उसको फक किए जा रा था ओर वो आवाज़े निकल र्ही थी आआआः अयाया उउउहह मेरा दर्द कर रहा है , उसकी आँखो से खुशी क आँसू आने लगे ओर वो मुझे लीप किस किए जा रही थी,ओर ज़ोर से करो, पूरा घुसा दो, , मेरा 2न्ड टाइम बहुत मुस्किल से निकलता ह, ,फिर उसके निकालने क कुछ टाइम बाद मेरा ब फिर फाइनली स्पर्म निकल गया. ओर उसका तो निकलता ही जा रहा था. ओर हम ऐसे ह एक दूसरे क उपर लेट गये, हम नीचे से पूरे गिल्ले हो चुके थे उसके स्पर्म से, ओर फिर रूचि ने मेरा कॉंडम उतार और लण्ड को साफ़ किया फिर दोनों एक दूसरे को पकड़ के लेट गए फिर हमने करीब 2 घंटे रेस्ट किया और नींद ले ली,

फिर जब मे उठा तो मेने देखा की रूचि मेरा लंड चूस रही थी, मे शॉक्ड हो गया यार, वो उसको वापिस भूक लगी थी, वो मेरे उपर आकर 69 पोज़िशन मे मेरे पेनिस को चूसने लगी ओर फिर मे ब उसकी पुसी को चूसने लगा, ओर हम फिर से एग्ज़ाइटेड होने लगे,

ओर वो मेरे लेग्स पे बेत गयइ ओर कॉंडम पहनाया ओर मेरे पेनिस को अपनी हॉट पुसी मे लेने लगी , ओर मेने ब उसकी हेल्प की ओर पूरा गुसेड दिया मेरी जान की हॉट पुसी मे, मेने रूचि से पूछा की यार तुम इतने हॉट आंड हंग्री हो सेक्स क लिए, एक्सपीरियेन्स्ड हो क्या , उसने कह दिया मज़ाक मे की हा हू ना, आज ह तो एक्सपीरियेन्स होवा क़्की सुबह से तुम ंझसे इतना प्यार क्र र्हे हो,

एनीवेस रूचि क अंदर पूरा पेनिस गुस गया ओर वो स्लोली उपर नीचे होने ल्गी, ओर थोड़ी देर बाद तो वो मस्त स्पीड मे उपर नीचे होकर अपनी पुसी मे मेरा पेनिस लेने लगी , मेने ब उसको पकड़के उपर नीचे करने लगा ओर पूरा गुसेड़ने ल्गा, ओर इश्स पोज़िशन मे वो कुछ जयदा ह चिल्ला र्ही थी फिर ब वो तेज़ी से जंप क्र करके अपनी पुसी मे ले र्ही थी, ओर करीब 20 मीं बाद वो जड़ गयइ आंड शान’त हो गयइ ओर फिर मे उसको पलटके उसको चोदने लगा, ओर मे ब जड़ गया कुछ स्ट्रोक्स क बाद,

फाइनली वो बॅस चुपचाप सोते होए मुझे देख रही थी ओर बोली की अमित यार उ आर सो हॉट, मेने भी कह दिया जिसकी गफ़ इतनी हॉट आंड सेक्सी हो उसका ब्फ तो हॉट ही होगा ना, ओर फिर वो शाम को रेस्ट करके अपने घर चली गयइ,

Leave a Reply

वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें