हनीमून की कहानी मेरी जुबानी

मेरी मा मुझे पिछले 2 सालो से शादी करने के लिए फोर्स कर रही थी लेकिन मैं आपने काम के कारण उनकी बात ताल ता रहा.मूज़े याद है 6-7 महीने पहले की बात है.मई आपने दोस्त के साथ ”एक विल्लियान” देख के घर आया था.जेसी है घर आया तो देखा की एक ब्यूटिफुल लड़की और एक अंकल मेरे घर मैं आस आ गेस्ट आए थे.

मई उनको देखके कुछ संजा नही और आपने कमरे मैं जाने लगा.मेरी मा ने मुझे रोका और कहा की इन से मिलो यह शर्मा जी और उनकी बेटी रजनी.मई रजनी को देखकर उससे पागलो की तरह घूराता रहा.रजनी ने मुझे ही किया और मैने भी उससे ही कह दिया.फिर मम्मी ने बोला की यह रजनी और तेरे रिश्ते की बात करवाने आए है.मैने कुछ नही कहा लेकिन अंकल ने मुझे और रजनी को टाइम स्पेंड करने को बोला हम टेरिस पे चले गये और बातें करने लगे.इस तरह हुमारी मुलाक़ात हुई.

अब रजनी के बड़े मैं बता डून.रजनी बोहुत ही रिज़र्व टाइप की लड़की थी.उसकी फिग. 34-28-34 थी. उसकी एज उस दिन 22 थी और मेरी 24. रंग गोरा. हाइट-5.6’. बोहुत खूबसूरात थी.उसने अभी अभी ही ग्रादीयात्ीओं कंप्लीट की थी देल्ही से और उसके पापा मेरे मामू के दोस्त थे. हुमारी दोस्त होने मैं टाइम नही लगा.नो. एक्सचेंज हुआी और व्हातसपप और फोन पे बातें होने लगी.वो कभी कभी रात को मुजसे मिलने आती.

क्यूंकी पूरा दिन मैं ऑफीस मैं ही होता हूँ.एक दिन रजनी ने फोन पे मुझे प्रपोज़ किया.और मेने हाँ कर दिया.मेने मम्मी को शादी के लिए हाँ बोल दिया.नवेंबर मैं हुमारी एंगेज्मेंट हुई और जन्वरी 24 2015 को हुमारी शादी. आख़िर वो दिन आया(सुहागरात) जिसका मेरे लंदड़ को 25 सालों से इंतेज़ार था.

मेरी बहानो ने मुझे अंधार भेजा और कहा रोहित आज भाभी जी को आपनी हेवानियत नही दिखना(मज़ाक) मुझे थोड़ा गुस्सा आया लेकिन रजनी ज़ोर ज़ोर से बेड पे बेठे हास रही थी तो मुझे भी हसी आई. वो थोड़ी डारी हुई थी तो मेने हिम्मत करके कहा ”रजनी अगर तुम अभी सेक्स के लिए रीडी नही हो तो हम आज सेक्स नही करेंगे.

रजनी के शोल्डर्स थोड़े रिलॅक्स फील हुआी.मेने कहा तुम जब भी रीडी हो जाओ कह देना ”इजाज़त है!” रजनी उत्कर वॉशरूम चली गयी .मेने भी लॅपटॉप ओपन किया और हनिमून पॅकेजस देखने लगा.रजनी चेंज करके आई तो वो भी देखने लगी और उसने मुझे ऑफीस मैं हॉलिडे लेने को बोला.मेने 15 दिन की हॉलिडेज़ फोन करके ले ली. रजनी और मेरी 20 मिनिट की डिस्कशन के बाद शिमला और गोआ बुक हुआ.

हुमारी ट्रिप अगली रात की थी, मैने सब कुछ शिमला मे बुक कर दिया और हम लिएट गये और उसकी बाहें मेरे नेक पे थी और मेरे हाथ उसकी कमर मे, थोड़ी यहाँ वजन की और थोड़े साद मोमेंट्स शेयर किए.बोहुत बातें की 4:30 तक फिर मैने पूछा की रजनी क्या मैं तुम्हे किस कर सकता हूउ.”उसने मूह हिलाते हुआी ह्म बोला” और तट बाइकम माई फर्स्ट स्मूच.नेक्स्ट दे मैं ऑफीस गया और रजनी तैयारी करने लगी.

रात को हम बस मैं बेठ गये(डबल स्लीपर) और उसने मुझे किस किया और हम प्यार वाली रोमॅंटिक बातें करने लगे एक दूसरे का साथ निभाने का वादा किया.फिर से किस करने लगे.सुबह 6 बजे हम शिमला बस स्टॅंड पोुनचे और 9 बजे हम होटेल पोहूंकषह गये.हुँने वहाँ ब्रेकफास्ट की और शिमला घूमने चले गये.मैने उसका हाथ पकड़कर शिमला घुमा.टेंपल्स मैं गये.बर्फ़फ़ मैं मस्तियाँ की.नयी नयी जगहाए देखी.

रेस्टोरेंट मैं लंच किया.पार्क्स और ग्राउंड्स मैं उसके साथ बातें की और 5 बजे हम होटेल के रूम मैं आ गये.उस रूम की खिड़की से शिमला के माउंटन्स और 2 गोलडेन कलर के मंदिर सॉफ दिखते थे और फोरेस्ट भी दिखते थे.खिड़की के पास एक लोंग चेर थी(रिलॅक्स के लिए) मैं वहाँ पर लिएट गया और रजनी मेरी बाँहो मैं लिएट गयी.हम दोनो सीनिक व्यू का मज़ा उठाते हुआी रोमॅंटिक बातें करने लगे और उसकी तारीफ़ और उसके गाल पे किस करने लगा.उसने तब ब्लॅक कलर की पेंट.

पिंक कलर की जॅकेट और ब्लू कलर का टॉप पहना था.बॉम्ब लग रही थी.मेरा लुंदड़ खड़ा था उसको सलामी दे रहा त्स(फिगर को) मेने हिम्मत करके उसको पीछे मोड़ा और उसके पिंक-रीड होंठ को चूसने लगा.फिर मेने हल्के से कान पे कहा ”इजाज़त है?” उसने मुस्कुराते हुआी मूह हिलाते कहा ”इजाज़त है” .लाइसेन्स मिल चुका था यारोनमेने उसकी जॅकेट उतार दी और ब्लू कोलिर का टॉप भी निकल दिया.

आहिस्ता से उसका इन्नर भी उतरा और उसके नेक को चाट ते ही ब्रा भी खोल दी. फिर मेने आपनी टी-शर्ट और इन्नर उतरा.और वो मेरे उपर मेरी तरफ फेस करके चड़ गयी मेने उससे पेंट खोलकर लंड दिखाया और कहा इससे हिलना ज़रा. वो हिलने लगी और हिलाते ही उसके मूह मैं डाल दिया और उसका मूह चोद दिया. अब हल्के हल्के उसकी पेंट की ज़िप खोली और आहिस्ता आहिस्ता नीचे करने लगा वो बोहुत गरम हो गयी थी और ह ह्मन्म ई लव यू रोहित बोलके मोन कर रही थी और ड्ऱ भी रही थी.

बाहर का व्यू हमारे रोमॅन्स पे 4 चाँद लगा रहे थे. मेने उसकी पेंटी निकल दी और उसकी चुत पे हेरी पिंक थी. अब मेने उससे लेटया और उसके उपर होके उससे चोदने की कोशिश करने लगा.2 बार नाकाम होने के बाद लकिली 3र्ड मैं लंड अंधार चला गया. और 20 मीं तक उसकी चीख और आँसू को कंट्रोल करने के बाद अंधार बाहर करने लगा उसको स्मूच कर रहा था. फिर एक दूं से पता नही क्या हुसी और अचानक मेरे लंड से कम निकल गया और उसकी चुत पे ही डाल दिया.

इतना मज़ा आ रहा था वो चुत को उपर नीचे कर रही थी.फिर जेसे ही उसकी चुत से लंड निकाला तो मेरे लंड पे खून लगा हुआ था और उसकी चुत से बह रहा था.फिर मेने उसको और खुदको बाथरूम ले गया और शवर बात लिया.मई वहाँ भी उसकी चुत को सहला रहा था और वो मोन कर रही थी. फिर हम सो गये और डाइरेक्ट सुबह उठे रज़ाई मैं दोनो न्यूड. मैं फिर उठकर स्मूच करने लगा 3 दिन पूरा शिमला घूमा और निकलते निकलते लास्ट दे भी फक किया और फिर गोआ गये.

You might also like