भाई बहन

बहन की चुदाई की सच्ची सेक्स कहानियाँ. भाई ने मुझे चोदा, बहन की चूत, चूत में लंड, लुंड की चुसाई, छोटी बहन मस्त करके लंड चूसती है मज़ा आ जाता है उसके मुह में लंड डाल के.. दीदी की गांड. गांड में चुदाई, दीदी की चूत चोदी

मेरी बहन और जालिम दुनिया

निशा ने मुँह हटाना चाहा.. लेकिन कोई फायदा नहीं हो रहा था.. वो कुछ सोचती कि उसके पहले एक लड़के ने अपना लंड उसकी चूत पर रखकर एक ज़ोरदार झटका मारा.. एक ही झटके में लंड अंदर चला गया और निशा ज़ोर से चिल्ला पड़ी और उसकी चूत से खून बहने लगा.. किसी ने उसको नहीं देखा.

Read More »

कज़िन को किचन में चोदकर बहनचोद बना

फिर मैंने अपना मुँह उसकी गुलाबी चूत के पास किया.. वहां पर एक भी बाल नहीं था और हल्का हल्का पानी निकल रहा था और उसकी खूशबु मेरी नाक में जा रही थी। फिर मैंने हल्की सी जीभ उसकी चूत पर लगाई.. क्या गर्म चूत थी और फिर में उसे चाटने लगा और वो आअहह उम्म्म ह्म्म्मम्म जैसी आवाजें निकालने लगी

Read More »

भाई और बहन कणिका

मैंने लंड पर थोड़ा ज़ोर लगाया तो उसकी चूत बहुत टाईट थी। मैंने एक झटका लगाया तो आधा लंड उसकी चूत मे अंदर गया और वो ज़ोर से चिल्लाने लगी.. उउऊईई माँ मररर गई.. बहुत दर्द हो रहा है.. पूरा डाल दे

Read More »

चचेरी बहन की जवानी लूटी

20 मिनट चूसने के बाद जब में झड़ने वाला था तो मैंने उसके बालों को अपने दोनों हाथों से पकड़ा और अपने लंड को उसके मुहं के अंदर तक ज़ोर ज़ोर से धक्के देते हुए अपना वीर्य उसको पिला दिया।

Read More »

कजिन को चोद कर चमन किया

मैं अपने घर में अमूमन हर चीज़ के लिए प्रॉब्लम सोल्वर माना जाता रहा हूँ, कारण की जब जब भी परिवार में किसी को भी कोई भी प्रॉब्लम हो मैं उसे ध्यान से सुनता हूँ और कोशिश करता हूँ की उस व्यक्ति विशेष को उस प्रॉब्लम का सलूशन मिल जाए. …

Read More »

कजिन मेरा लंड चूसते हुए (Cousin Mera lund chuste hue)

फ्रेंड्स! मेरा नाम रोहित सिंह है. मेरी फॅमिली में मेरे पापा, मम्मी, भाई और २ बहाने है. में वाराणसी का रहने वाला हु. में अभी २० साल का हु. में अभी बी.कॉम फाइनल इयर में हु और मेरी हाइट ५ फीट ७ इंच है और बॉडी फिगर फिट और लंड …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें