जवान लड़की

देसी जवान लड़की की वर्जिन कुवारी चूत की चुदाई स्टोरीज, नंगी कुवारी लड़की, desi indian virgin chut gand chudai kahani, sexkahani kuwari bur, bur me mota lund, kuwari bur ki chudai

मैं और मेरी प्यारी दीदी भाग – ३६

ये कहानी मैं और मेरी प्यारी दीदी का पार्ट है आगे की कहानी >>> मैंने कहा “दीदी हुक खोलो ना ” वो अपने हाथ पीछे लेके गई और अपनी ब्रा का हुक खोल दिया प्रीती दीदी कि वाइट ब्रा नीचे गिर गई मैं प्रीती दीदी के सेक्सी बदन को निहारने लगा …

Read More »

वो लड़की बहुत याद आती है

​                                         वो लड़की बहुत याद आती है नमस्कार दोस्तो मैं रौशन मिश्रा झारखंड राज्य के पलामू ज़िले का रहने वाला हूँ , मेरी उमर 32 वर्ष है , और मेरे लॅंड …

Read More »

दीदी को मैंने चोदा…

गया एक पुलिस कांस्टेबल के साथ, मेरे जीजा रिज़र्व पुलिस में थे तो उनको आउट स्टेशन जाना पड़ता था। और मेरे दीदी और जीजाजी के सम्बन्ध उतना क्लोज नहीं था क्योंकि उनकी उमर २५ थी जब वो दीदी को शादी किये थे। मेरे दीदी मेरे घर के बाजु में ही …

Read More »

मेरी गर्लफ्रेंड और उसके दीदी जीजाजी

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम चंदन है और में असम से हूँ, मुझे सेक्स में बहुत रूचि है और में अक्सर सेक्स स्टोरी पढ़ता हूँ इसलिए में अभी मेरी पहली स्टोरी आपको बताने जा रहा हूँ. ये स्टोरी एक सच्ची घटना पर आधारित है और ये चार लोगों के अनुभव के …

Read More »

पड़ोसन पूजा की चूत मैं लंड डाल दिया: Padosan pooja ki chut me lund dal diya

पूजा मेरी पड़ोसन थी. वो एक हसीन बला थी और लुक में कमाल थी. उसको देख कर अच्छे – अच्छो का पानी छुट जाए, ऐसा था उसका फिगर ३४ – २८ – ३२.chudai stories मेरे भाई की जुबान से पूजा का नाम सुन कर, मैं फुला नहीं समां रहा था …

Read More »

गुड़गाँव की रण्डी

प्रेषक : गुमनाम हेलो दोस्तों, में 23 साल का सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूं और दिल्ली में रहता हूं गुडगाँव में एक सॉफ्टवेयर डेवलपर कम्पनी में जॉब करता हूं l पहले में अपने बारे में कुछ बताना चाहता हूं   इस घटना को अभी 2-3 सप्ताह ही हुए होंगे l में ऑफिस …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें