Home / Hinglish SEX Kahani / Girlfriend ki Chudai (page 10)

Girlfriend ki Chudai

Girlfriend ki chudai kahaniya, College me sex, mera pahla sex college wali jawan ladki se, girlfriend ki dhamakedar chudai ki kahani, girlfriend sex story

स्टूडेंट की माँ की बुरी तरह से चुदाई (Student ki Ma ki Buri Tarah se chudai)

प्रेषक : राहुल शर्मा … हैल्लो मेरे प्रिय मित्रो, में राहुल आज आप सभी के सामने हाज़िर हूँ अपनी एक सच्ची कहानी लेकर और यह आप लोगों के लिए कहानी ही होगी, लेकिन यह मेरी लाईफ की एक सच्ची घटना है, जो अभी एक सप्ताह पहले मेरे साथ घटित हुई। …

Read More »

दोस्त के घर पर अजीब मज़ा (DOst Ke Ghar me Ajeeb Maza)

प्रेषक : हारून … हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम हारून है और में जम्मू का रहने वाला हूँ। दोस्तों कामुकता डॉट कॉम पर यह मेरी पहली कहानी है, लेकिन में आपकी तरह बहुत समय से इसकी सेक्सी कहानियाँ पढ़ता आ रहा हूँ और में उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को …

Read More »

मेरी गर्लफ्रेंड झलक की चुत चुदाई का मज़ा हिन्दी सेक्स स्टोरी

मेरी उम्र बत्तीस साल है और मैं शादीशुदा हूँ। फ़िर भी मेरी यह अभी की घटना है जो आप लोगो को लंड और चूत को खुजलाने के लिए मजबूर कर देगी। मैंने अहमदाबाद में नया रेस्तराँ खोला था जहाँ पर वो आया करती थी। उसकी उम्र करीब 19 साल के …

Read More »

बेस्ट फ्रेंड के साथ तूफानी चुदाई (Best Friend Ke Sath Tufaani Chut Gaand Chudai)

हाय फ्रेंड्स मेरा नाम जतिन है और मैं अभियांत्रिकी का छात्र हूँ। मैं खाते पीते घर से हूँ.. इसीलिए मैं एक एथलेटिक और भरे हुए बदन का मालिक हूँ और दिखने में भी मैं एक आकर्षक लड़का हूँ। हर रोज जिम जाना मुझे अच्छा लगता है और ये मेरी हॉबी …

Read More »

पहले चूचे दिखाए फ़िर चूत चुदाई (Pahle Chuche dikhaye Fir Chut Chudai)

मेरा नाम अभिराज है.. और मैं एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूँ और अभी चंडीगढ़ में कार्यरत हूँ। मैं अन्तर्वासना को लगभग आठ साल से पढ़ रहा हूँ। मैंने अन्तर्वासना के लगभग सारी की सारी कहानी पढ़ी हैं, बहुत सी कहानियाँ सच्ची लगीं। आज मुझे भी दिल किया कि अपनी कहानी आप …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें