Home / Hinglish SEX Kahani (page 2)

Hinglish SEX Kahani

Suhag Raat Ki Chudai Kahani

Hi, Mera naam Anjali  hai. Main aaj aapko apni suhag raat ki chudai ki kahani sunati hoon. Meri ek thi saheli seema. Uski shaadi ko 1 saal ho chuke the.seema  mujhse apni chudayee ki saari kahani batati thi. Uska pati usko bahut hi achchhi tarah se chodta tha. Mera man …

Read More »

choti behan ki chudai ki kahani

Ye kahani mere mami ki ladki priya ki hai.wo log Ghaziabad me rhte the.Mama ke 2 ladke aur 1 ladki(priya) thi.Uski umra kariban 23yr thi.Dekhne me bahut pyari or maasoom thi.lekin wo bhi dhire dhire jawan ho rhi thi. Mera Ghaziabad jana tab hua jb mera exam tha.Winter ka season …

Read More »

इतना अच्छा लंड मिला घर में प्यास बुझी

कुछ दिन पहले हमारे रिश्ते में एक शादी में हम सभी गए थे। Indian Sex Hindi sex Chudai Antarvasna Kamukta बहुत सारे रिश्तेदार आए हुए थे। मैं भी बहुत उत्साह से इसमें शामिल हुई थी। मेरे रिश्ते का एक देवर शिशिर खूब जवान और खूबसूरत था, उससे मेरी खूब ठिठोली …

Read More »

मइके आई पड़ोसन लड़की को चोदा

हाय फ्रेंड्स में हूँ अभी. और मेरी उम्र २१ साल हे और में चोदाई की कहानी पढने का बहोत सोखिन हूँ और में पटना बिहार से हूँ. तो आपको ज्यादा बोर ना करते हुए स्टोरी पे आता हूँ. ये एक रियल स्टोरी हे मेरी.  पड़ोस वाली एक मेरिड लड़की को …

Read More »

Bhabhi aur behan ki chudai ek sath

dosto aaj jo chudai ki kahani batane jaa rahi hu wo meri bhabhi aur uski behan ki chudaiki hai .. kaise me apne bhabhi ki chudai ki aur bhabhi ki behan ki chudai ki ye bataungaAab mein story par aata hu kaffi time meri aur nisha bhabi ki baat phone par honi lagi . kio ki mein …

Read More »

नौकरों के लौड़ों से मेरी चूत चुदाई

मेरा नाम विधि है। मैं एक 36 साल की महिला हूँ। मैं अपनी दोनों बेटियों और पति के साथ रोहतक में रहती हूँ। मेरी बड़ी बेटी स्नेहा 18 साल की है और छोटी बेटी उससे छोटी है.. उसका नाम स्तुति है। अब मैं आप लोगों को ज्यादा बोर ना करते …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें