मैं और मेरी प्यारी दीदी भाग – २७

आगे की कहानी >>>
थोड़ी देर में पापा मम्मी प्रीती दीदी को लेने चले गए जैसे ही वो निकले और शिप्रा दीदी ने गेट बंद किया मैंने उन्हें गेट बंद करते ही पकड़ लिया और उन्हें किस करने लगा वो भी मुझे किस करने लगी हम दोनों एक दूसरे को पागलों की तरह चूम रहे थे मैं उन्हें किस करते हुए उनके लम्बे खुले बालों को सहला रहा था वो भी मेरे होंठ चूस रही थी आज हमें पहली बार ऐसा मौका मिला था की घर पे बस हम दोनों अकेले थे थोड़ी देर किस करने के बाद शिप्रा दीदी ने अपने होंठ मुझसे छुडाये और बोली “सब यहीं कर लेगा क्या रूम में तो चल ” मैंने उन्हें धक्का देके गेट से लगा दिया और बोला “शिप्रा दीदी आज आप बहुत सेक्सी लग रही हो ” और उन्हें वापस किस करने लगा उन्हें किस करते करते मैं उनके टॉप पे से उनके बोबे दबाने ही वाला था तभी उन्होंने मुझे धक्का दिया और हँसते हुए रूम की तरफ भाग गई मैं भी उनके पीछे भागा और उन्हें पीछे से पकड़ के बेड पे लिटा दिया शिप्रा दीदी बोली “क्या बात है बड़ी जल्दी है तुझे तो ” मैंने कहा “हाँ दीदी आज पहली बार ऐसा मौका मिला है ” और फिर मैं शिप्रा दीदी के ऊपर लेट गया और उनके होंठ चूसने लगा वो भी मेरे होंठ चूसने लगी फिर ऐसे ही किस करते करते वो मेरे ऊपर आ गयी
मैं उन्हें किस करते हुए उनके टॉप पे से उनकी पूरी पीठ पे हाथ फेर रहा था उन्हें किस करने के बाद मैंने उन्हें पलटा और उनके ऊपर लेट गया और उनके पूरे फेस पे किस करने लगा फिर धीरे धीरे उनकी गर्दन पे अपने होंठो से स्मूच करने लगा उनकी सांसें तेज चल रही थी फिर मैं उनके गाल पे स्मूच करते हुए उनके कान पे अपने होंठ फेरने लगा और उनके कान में अपनी जीभ डाल दी वो एक दम से छठ पटाई और अपना मुह दूसरी तरफ घुमा लिया अब मैं उनके दूसरे कान पे स्मूच करने लगा और उनके दूसरे कान में अपनी जीभ डाल दी फिर उन्होंने मेरा मुह पकड़ा और मुझे किस करने लगी शिप्रा दीदी मेरे होंठ चूसने लगी फिर मैंने अपनी जीभ उनके मुह में डाल दी और वो मेरी जीभ चूसने लगी मैं भी उनके होंठ चूसने लगा उन्हें ऐसे किस करते हुए मैं उनके टॉप पे से उनके बोबे दबाने लगा शिप्रा दीदी ने ब्लैक कलर का टॉप और ब्लू कलर की जींस पेहेन रखी थी मैं उनके टॉप पे से उनके बोबे दबा रहा था फिर मैं अपना हाथ नीचे लेके गया और उनकी टांगो को चौड़ा किया और जींस पे से शिप्रा दीदी की चूत सहलाने लगा हम दोनों एक दूसरे के होंठो को चूस रहे थे और उनके होंठ चूसते हुए मैं उनकी चूत सहला रहा था थोड़ी देर उनकी चूत सहलाने के बाद उन्होंने मुझे पलट दिया और मेरे ऊपर लेट गयी अब मैंने अपना हाथ उनके टॉप के नीचे से अंदर डाल दिया और उनकी चिकनी नंगी पीठ सहलाने लगा
फिर शिप्रा दीदी ने मेरे होंठ छोड़े और वो मेरे पूरे फेस पे स्मूच करने लगी अपने होंठो से फिर वो मेरे गले पे स्मूच करने लगी मुझे बहुत मजा आ रहा था फिर उन्होंने मेरे कंधे पे स्मूच करते हुए अपने दांत से मेरे कंधे पे एक बाईट ले लिया मुझे मीठा सा एहसास हुआ बाईट लेने के बाद वो मेरी आँखों में देख के मुस्कुराने लगी मैं भी उनकी आँखों में देखते हुए उनके टॉप पे से उनके बोबे दबाने लगा शिप्रा दीदी घुटनों के बल मेरे ऊपर बैठी थी और मैं उनके नीचे लेटा था और उनके टॉप पे से उनके बोबे दबा रहा था मैंने कहा “दीदी टॉप उतारो ना ” और शिप्रा दीदी ने मुस्कुराते हुए नीचे से अपना टॉप पकड़ा और उसे उतार दिया अब शिप्रा दीदी मेरे सामने ब्रा में थी शिप्रा दीदी ने वाइट कलर की नेट वाली ब्रा पेहेन रखी थी मैं उनकी ब्रा पे से उनके बोबे दबाने लगा उन्हें सहलाने लगा शिप्रा दीदी आँखें बंद करके सिसकियाँ लेने लगी शिप्रा दीदी की नेट की ब्रा में से उनके ब्राउन कलर के छोटे छोटे खड़े हुए निप्पल साफ़ दिख रहे थे थोड़ी देर तक उनके बोबे सहलाने के बाद मैंने खींच कर उन्हें अपने ऊपर लिटा दिया और उन्हें किस करने लगा और उन्हें किस करते करते उनकी पीठ पर हाथ फेरने लगा और उनकी ब्रा का हुक खोल दिया और उनकी नंगी पीठ को सहलाने लगा फिर मैंने उन्हें पलटा और उनके ऊपर लेट गया और उनके बदन पे स्मूच करने लगा शिप्रा दीदी ऊपर से पूरी नंगी थी और मेरे नीचे लेटी हुई थी मैं उनके बदन पे स्मूच कर रहा था उनकी आँखें बंद थी उनकी गर्दन से स्मूच करते हुए मैं उनके बोबो पे आया और उनके दोनों नंगे बोबो पे किस किया शिप्रा दीदी के दोनों निप्पल खड़े हुए थे मैंने उनके एक बोबे को अपने मुह में लिया और उसे चूसने लगा शिप्रा दीदी सिसकियाँ लेने लगी और अपने हाथ मेरे बालों में फेर रही थी
मैं उनके निप्पल को चूसने लगा और अपने दूसरे हाथ से उनके दूसरे बोबे को दबाने लगा फिर मैं उनके दूसरे बोबे को चूसने लगा थोड़ी देर तक उनके दोनों बोबे चूसने के बाद मैं वापस ऊपर गया और शिप्रा दीदी को किस करने लगा फिर मैं उनके कान के पास गया और उनका कान अपनी जीभ से चाटने लगा शिप्रा दीदी छठ पटाने लगी मैं उनके दोनों हाथ पकड़ के उनके सर के पास ले गया शिप्रा दीदी ने अपने हाथ छुड़ाने की कोशिश की लेकिन मैंने उनके दोनों हाथ अपने हाथ से पकड़ लिए और उनके कान के पास स्मूच करने लगा उनके कान पे से मैं उनके कंधे पे स्मूच करने लगा फिर मैंने अपने होंठ शिप्रा दीदी के अंडर आर्म्स पे रखे और वह स्मूच करने का लगा
शिप्रा दीदी के अंडर आर्म्स बिल्कुल गोरे और चिकने थे मैं उनके अंडर आर्म्स को अपने जीभ से चाटने लगा शिप्रा दीदी को बहुत मजा आ रहा था वो कसमसा रही थी फिर मैं उनके गोरे चिकने हाथ पे स्मूच करने लगा फिर मैं उनके पूरे बदन को अपनी जीभ से सहलाने लगा शिप्रा दीदी ने अपने हाथ मुझसे छुडाये और मुझे अपने पास खींचा और मुझे किस करने लगी उनकी सांसें बहुत तेज चल रही थी मैं भी उन्हें किस करते हुए उनके दोनों नंगे बोबे सहलाने लगा फिर मैंने अपना हाथ उनकी जींस के अंदर डाला और उन्हें किस करते हुए उनकी पेंटी पे से उनकी चूत सहलाने लगा फिर मैं बेड से खड़ा हुआ और शिप्रा दीदी का हाथ पकड़ के उन्हें भी बेड पे बिठा दिया शिप्रा दीदी ने मेरा बेल्ट खोला मेरी जींस का बटन खोला और मेरी जींस नीचे कर दी फिर वो मेरी अंडर वियर पे से मेरे खड़े हुए लंड को अपने हाथ से सहलाने लगी मुझे बहुत मजा अ रहा था
फिर उन्होंने मेरी अंडर वियर भी नीचे कर दी और मेरा नंगा खड़ा हुआ लंड शिप्रा दीदी के सामने था वो मेरे नंगे लंड को अपने हाथों से सहलाने लगी फिर उन्होंने मेरे लंड पे किस किया और उसपे अपने होंठो से स्मूच करने लगी मेरे पूरे लंड पे स्मूच करने के बाद उन्होंने मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ा और उसे मुह में ले लिया मुझे बहुत मजा आ रहा था मेरा लंड शिप्रा दीदी के मुह में था वो उसे चूस रही थी मैं उनके बालों को सहलाने लगा शिप्रा दीदी मेरा पूरा लंड अपने मुह में लेके उसे चूसने लगी थोड़ी देर तक उन्होंने मेरा लंड चूसा फिर मैंने अपना लंड उनके मुह से बाहर निकाला और वापस उन्हें बेड पे लिटा दिया और उनके दोनों बोबो को अपने हाथ से पकड़ा और बारी बारी से उन्हें दबाने लगा उनके खड़े हुए निप्पल को चूसने लगा फिर मैं शिप्रा दीदी के पेट पे स्मूच करने लगा उनकी नाभी को अपनी जीभ से सहलाने लगा
फिर मैंने अपनी जीभ शिप्रा दीदी की नाभी में डाल दी और अपने दोनों हाथ से उनके बोबे पकड़ लिया मैं उनके दोनों बोबे दबाने लगा और उनके बोबे दबाते हुए उनकी नाभी में अपनी जीभ गोल गोल घुमाने लगा शिप्रा दीदी बहुत उत्तेजित थी वो मेरे बालों को सहलाने लगी फिर मैंने शिप्रा दीदी की जींस का बेल्ट खोला और उनकी जींस उतार दी अब मेरी प्यारी शिप्रा दीदी मेरे सामने बस पेंटी में बेड पे लेटी हुई थी फिर मैं बेड से खड़ा हुआ और अपनी टी शर्ट भी उतार दी अब मैं पूरा नंगा हो गया था मैं खड़े होके शिप्रा दीदी को देखने लगा वो बस अपनी पेंटी में बेड पे लेटी हुई थी शिप्रा दीदी ने पिंक कलर की स्ट्राइप्स वाली लो वेस्ट पेंटी पहेनी हुई थी मैं उन्हें थोड़ी देर तक ऐसे ही देखता रहा आँखें बंद खुले हुए बाल गोरे गोरे मोटे मोटे बोबे उसपे खड़े हुए ब्राउन निप्पल हाथ सर पे चिकने अंडर आर्म्स पिंक पेंटी चिकनी गोरी नंगी झांगें उन्हें थोड़ी देर तक ऐसे देखने के बाद मैं वापस उनके ऊपर लेट गया और फिर उन्हें किस करने लगा और उनकी पेंटी पे से उनकी चूत सहलाने लगा शिप्रा दीदी की पेंटी पूरी गीली थी फिर मैंने उनके होंठ छोड़े और उनके पूरे बदन पे स्मूच करते हुए नीचे गया और उनकी पेंटी पे से उनकी चूत पे स्मूच करने लगा शिप्रा दीदी के मुह से जोर से सिसकी निकली …….
मैंने नीचे गया और शिप्रा दीदी की पेंटी पे से उनकी चूत पे अपने होंठो से स्मूच करने लगा शिप्रा दीदी सिसकियाँ ले रही थी फिर थोड़ी देर उनकी चूत पे स्मूच करने के बाद मैंने उनकी टांगें चौड़ी की और उनकी अंदरूनी जांघ पे स्मूच करने लगा शिप्रा दीदी की झांग बिल्कुल चिकनी और गोरी थी मैं उनकी मुलायम झांग पे अपने होंठ फेरने लगा उन्हें बहुत मजा आ रहा था मैं उनकी झांग पे स्मूच करते करते नीचे गया और उनकी पूरी चिकनी नंगी टांग पे अपने होंठो से स्मूच किया फिर मैंने उनकी दूसरी टांग पे स्मूच करना शुरू किया और नीचे से उनकी टांग पे अपने होंठ फेरते हुए वापस उनकी चूत तक पहुंचा और उनकी पेंटी पे से वापस उनकी चूत पे स्मूच करने लगा
फिर मैं शिप्रा दीदी की पेंटी पे से उनकी चूत के होल को अपनी ऊँगली से सहलाने लगा उनकी पेंटी में बहुत सारा डिस्चार्ज था मैंने फिर अपने होंठ शिप्रा दीदी की चूत के होल पे रखे और वह स्मूच करने लगा शिप्रा दीदी अपने दोनों हाथों से मेरे बालों को सहलाने लगी फिर मैंने शिप्रा दीदी की पेंटी थोड़ी सी नीचे की और उनकी क्लिट पे किस किया शिप्रा दीदी सिहर उठी फिर मैंने शिप्रा दीदी की पेंटी उतार दी अब शिप्रा दीदी पूरी नंगी बिस्तर पे थी मैंने उनकी दोनों झांगो को चौड़ा किया और अपना मुह उनकी दोनों झांगो के बीच डाल दिया और उनकी चूत चाटने लगा शिप्रा दीदी की चूत बहुत गीली थी वो पूरी तरह से डिस्चार्ज में भीगी हुई थी मैंने उनकी चूत की दोनों स्किन को अलग किया और उनकी क्लिट अपनी जीभ से सहलाने लगा जैसे ही मैंने अपनी जीभ से शिप्रा दीदी की क्लिट को सहलाना शुरू किया उनके मुंह से एक लंबी सी सिसकी निकली “आआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह ……”
शिप्रा दीदी बहुत तेज तेज सिसकियाँ ले रही थी मुझे पता था की उन्हें बहुत मजा आ रहा था मैं अपनी जीभ से उनकी क्लिट चाटने लगा वो मेरे बालों में अपने हाथ फेर रही थी फिर मैंने शिप्रा दीदी की क्लिट पे अपने होंठ रखे और उसे अपने होंठो से अंदर की ओर चूसने लगा अब शिप्रा दीदी काबू से बाहर हो गई थी वो अपने दोनों हाथों से बिस्तर की चादर पकडे हुए खींच रही थी और लंबी लंबी तेज तेज सिसकियाँ ले रही थी मुझे पता था की उन्हें बहुत मजा आ रहा है फिर मैंने अपनी जीभ उनकी चूत के होल पे लगाई और उसे चाटने लगा फिर मैंने अपनी जीभ का टिप उनके होल पे लगाया और उसे गोल गोल घुमाने लगा शिप्रा दीदी कभी चादर को पकडती कभी मेरे बालों को सहलाती थोड़ी देर तक उनकी चूत चाटने के बाद मैं वापस ऊपर गया और उन्हें किस करने लगा वो भी मेरे होंठ चूस रही थी फिर मैंने उन्हें किस करते करते अपनी एक उँगली उनकी चूत के होल में डाल दी
उनकी चूत इतनी गीली थी की मेरी ऊँगली फिसलती हुई अपने आप ही उनकी चूत में चली गई ऐसा लगा जैसे चूत ने ही ऊँगली को अंदर खींच लिया हो मैं उन्हें किस करते हुए अपनी ऊँगली उनकी चूत से अंदर बाहर करने लगा अब शिप्रा दीदी मेरे होंठो को काटने लगी थी मुझे पता था की वो बहुत उत्तेजित है मैं उन्हें किस करते हुए जल्दी जल्दी अपनी ऊँगली उनकी चूत से अंदर बाहर करने लगा उनके मुंह से सिसकी निकली “अम्म्म्म्म्म्म्म्म …आअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह ” फिर मैंने अपनी ऊँगली उनकी चूत से बाहर निकाली और शिप्रा दीदी का हाथ पकड़ के अपने लंड पे लगा दिया शिप्रा दीदी अपने हाथों से मेरा लंड सहलाने लगी और मैं अपने हाथों से उनकी चूत सहलाने लगा उनकी चूत सहलाते हुए मैंने कहा “शिप्रा दीदी मेरा लंड चूसो ना ..” वो मेरे लंड पे अपना मुंह बढाने लगी तभी मैंने कहा दीदी मैं भी आपकी चूत चाटना चाहता हूँ वो मुस्कुराई और बोली “सोनू एक काम कर तू सीधा लेट जा और मैं तेरे ऊपर लेट जाती हूँ बस मेरा मुंह तेरे लंड पे रहेगा और तेरा मुंह मेरी चूत पे तू मेरी चूत चाटना मैं तेरा लंड चूसूंगी “
मैंने कहा “ठीक है दीदी ” फिर वो मेरे ऊपर लेट गई और मेरा लंड चूसने लगी मुझे बहुत मजा आने लगा मैं भी शिप्रा दीदी की चूत चाटने लगा हम दोनों को ऐसा करने में बहुत मजा आ रहा था जब भी मैं उनकी क्लिट को अपनी जीभ से सहलाता तो वो सिहर उठती और उस उत्तेजना के कारण वो जल्दी जल्दी मेरा लंड चूसती और जब वो जल्दी जल्दी मेरे लंड के टोपे को अपने मुंह के अंदर बाहर करती तो मुझे बहुत मजा आता और मैं भी जल्दी जल्दी उनकी चूत चाटता हम दोनों थोड़ी देर तक ऐसा ही करते रहे फिर शिप्रा दीदी उठी और मैंने उन्हें अपने नीचे लिटा दिया और उन्हें किस करने लगा और उन्हें किस करते हुए उनके बोबे दबाने लगा फिर मैंने उनके दोनों बोबे चूसे फिर वापस ऊपर गया
हम दोनों की नजरें मिली और शिप्रा दीदी ने अपनी दोनों टांगें फैला दी अब मेरा लंड शिप्रा दीदी की चूत पे अड़ रहा था मैंने कहा “शिप्रा दीदी मेरा लंड अपनी चूत में फेरो ना ” शिप्रा दीदी ने अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ा और उसे अपनी पूरी चूत में फेरने लगी मुझे बहुत मजा आ रहा था वो मेरे लंड के टोपे को अपनी चूत के ऊपर से लेके नीचे होल तक पूरी चूत में फेर रही थी उनकी चूत बहुत गीली थी मैंने कहा दीदी एडजस्ट करो ना और शिप्रा दीदी ने मेरा लंड अपनी चूत पे एडजस्ट किया और कहा “सोनू धीरे धीरे इन्सर्ट करना ” मैंने कहा “हाँ दीदी ” और मैं धीरे धीरे अपना लंड शिप्रा दीदी की चूत में डालने लगा मेरे लंड का थोडा सा टोपा अंदर गया और शिप्रा दीदी चीख पड़ी “आह्ह्ह्ह्ह …सोनू रुक जा ” मैं रुक गया फिर थोड़ी देर बाद वो बोली “हाँ अब वापस डाल धीरे से ” मैंने फिर से हल्का सा जोर लगाया अब थोडा सा टोपा शिप्रा दीदी की चूत के अंदर था उन्होंने मुझे फिर रुकने को कहा उन्हें दर्द हो रहा था मैं रुक गया
उन्होंने फिर मुझे अंदर डालने का इशारा किया इस बार मैं उन्हें किस करने लगा और उन्हें किस करते हुए मैंने ज्यादा तेज धक्का लगा दिया मेरे लंड का पूरा टोपा शिप्रा दीदी की चूत में चला गया वो बहुत जोर से चिल्लाई और मुझे धक्का देने लगी लेकिन मैंने उन्हें कस के पकड़ लिया और उन्हें किस करता रहा थोड़ी देर बाद वो नार्मल हुई मैंने कहा “दीदी डाल दू पूरा अंदर ” उन्होंने हाँ में सर हिलाया अब मैंने थोडा और धक्का दिया और मेरा पूरा लंड शिप्रा दीदी की चूत में चला गया वो फिर थोडा चिल्लाई मैंने उनके होंठ पकड़ लिए और उन्हें चूसने लगा अब मेरा लंड शिप्रा दीदी की चूत में था मैंने धीरे धीरे धक्के मारने स्टार्ट किया शिप्रा दीदी दर्द के कारण कराह रही थी लेकिन मैं अपने लंड को धीरे धीरे हिलाने लगा और धक्के मारने लगा थोड़ी देर बाद शिप्रा दीदी कराह उनकी सिसकी में बदल गई थी………

आगे की कहानी जरी रहेगी>>>>

You might also like