किस्सा दो बातों का- Ek Gyan Ladkiyo ke liye

हाय दोस्तों आज मैं आप के लिये कोई कहानी नहीं लाया लेकिन मैं आपसे केवल 2 बातें करने आया हूं। और ये दो बातें केवल लड़कियों के लिये हैं। तो लेडीज़—गौर फ़रमायें। आप या तो कुंवारी होंगी या फ़िर शादी शुदा शादीशुदा हो तो ठीक है, कुंवारी होंगी तो 2 …

Read More »

देवर बड़ा रंगीला चोदे मुझे अलग अलग तरीके से

हाय ! सही कह रही हु दोस्तों, मेरा देवर बड़ा रंगीला है, मजे ले रही हु, ज़िंदगी बड़ी अच्छी चल रही है, भगवान से मनाती हु की ये बात मेरे पति को ना पता चले. मुझे अपनी कहानी लिखने की प्रेरणा मुझे नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम से ही मिला है, …

Read More »

दीदी के देवर ने पूरी रात चुदाई की मोटे काले लंड से

दीदी के देवर ने पूरी रात चुदाई की मोटे काले लंड से आज मैं आपको अपनी एक कहानी पेश कर रही हु, क्यों की मैं जबसे जवान हुयी थी यानी की जब से मेरे चूत में और बगल में बाल उगे और मेरी चूची बड़ी बड़ी हुयी तब से मुझे …

Read More »

असंतुष्ट देवरानी को मेरे पति ने सतुष्ट किया मेरे सामने

असंतुष्ट देवरानी को मेरे पति ने सतुष्ट किया मेरे सामने मैं मेनका इंदौर से हु, मैं २८ साल की हु और मेरे पति ३० साल के है, मेरा पति मुझे बहुत ही ज्यादा प्यार करता है मुझे, पर आजकल मेरे सामने एक अजीब समस्या हो गयी है, ना चाहते हुए …

Read More »

सविता भाभी को कार चलाना सिखाया- Savita bhabhi ko car chalana sikhaya

प्रेषक : ऋषि गुप्ता … हैल्लो दोस्तों, दोस्तों मेरा नाम ऋषि गुप्ता है और आज में आप सभी को अपनी एक आपबीती सुनाना चाहता हूँ और यह बात एक साल पहले की है, दोस्तों मैंने अपना कॉलेज ख़त्म किया और में नौकरी की तलाश में दिल्ली गया हुआ था और …

Read More »

बुआ के साथ बिताई हसीन रात

प्रेषक : अजय हैल्लो दोस्तों, में कामुकता डॉट कॉम का बहुत समय से पाठक हूँ और मुझे इसकी सभी कहानियाँ बहुत अच्छी लगती है और एक दिन मैंने भी आप सभी की तरह इसकी कहानियाँ पढ़ते पढ़ते अपनी कहानी भी आप सभी को सुनाने का विचार किया, जिसको लिखने में …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें