Home / Hinglish SEX Kahani / chut Chudai Ki Kahani / पति चोद नहीं सकता इस वजह से सिक्योरिटी गार्ड से चुदवाई

पति चोद नहीं सकता इस वजह से सिक्योरिटी गार्ड से चुदवाई

दोस्तों मैं एक पढ़ी लिखी 28 साल की खूबसूरत महिला हू, मेरी शादी को हुए 3 साल हो गये है, मैं कभी भी किसी दूसरे पुरुष की तरफ आँख उठा के नही देखी ना तो कोई मेरा बाय्फ्रेंड था, अक्सर मैं कॉलेज मे सारे लड़कियों को चूड़ते सुना था, जो की अपने बाय्फ्रेंड या तो किसी अपनी ही फॅमिली मेंबर की साथ सेक्स संबंद बनती थी, पर मेरे एक सपना था की मैं अगर कभी सेक्स करूगी तो अपने पति के साथ पति का अलावा मैं किसी को भी आँख उठा कर नही देखूँगी, पर ना जाने ज़िंगड्गी एक गाड़ी है पता नही किस मोड़ पे आपकी हालत उतार दे और आपको वो सब करना पड़े जिसकी आपने कभी कल्पना भी ना की हो वही हुआ मेरे साथ.

मैं करीब 3 साल तक खामोश रही जैसा चला वैसा ही चलने दिया, पर सारी सीमा एक दिन टूट गयी, मैं hindisexkahani.in पे पहले से ही आती थी और लोगो का एक्सपीरियेन्स को पढ़ के कभी खुश भी होती और कभी नाराज़ भी होती नाराज़गी तो तब होती थी जब कोई नमार्द या कमजोर पति अपने पत्नी को चोद नही सकता था और वो औरत किसी और से चुदवाती थी, तो मैं सोचती थी शादी क्यों किया जब वो अपने पत्नी को चुदाई तक नही कर सकता है, फिर मैने hindisexkahani.in पे अपना कहानी भेजने का फ़ैसला किया, और आज आप मेरी कहानी को पढ़ रहे है, मैं अब आपको अपनी पूरी कहानी को विस्तार से बताती हू.

मेरी शादी बड़ी ही धूम धाम से हुई, हज़्बेंड देखने मे काफ़ी अच्छा और लंबा तगड़ा था, पापा ने मेरी शादी काफ़ी अच्छे से की पर ये बात आपको भी पता है, लड़का तो देख के करता है पर उसका लॅंड खड़ा होता है की नही ये कोई भी मा बाप नही देखता है, और कुच्छ ऐसे डिफेक्टिव पीस किसी की ज़िंदगी को तबाह कर देता है, मैं सुहागरात के दिन सज धज के बैठी थी, वो आया मैने दूध का ग्लास दिया वो पी लिया, कुछ देर वो लंबी लंबी भाषण दिया, ज़िंदगी मे तुम्हे किसी चीज़ की कमी नही होने देगे, मैं आज तक किसी को नही छुआ सिर्फ़ तुम हो, मैं ये सब बात सुनकर गद गद हो गयी, सोची की मुझे वो सब मिल गया जिसका मैं बर्षो से सपनो मे देख रही थी.

उन्होने मुझे अपनी बाहों मे भर लिया फिर मेरा वासना का परवान चढ़ा और दोनो एक दूसरे मे लिपट गये, ब्लाउस का हुक खुला ब्रा को पीछे से उसने ही खोला, वही हुया जिस स्टाइल मे दुल्हन बेड पे लेटटी है, आपने भी हिन्दी सिनेमा मे देखा होगा मेरे बूब को मूह मे ले लिया, और मेरे होठों को चूमने लगे, मैं सेक्स की उफान मे ती, करीब 20 मिनिट तक उन्होने मी रोम रोम को चाट दिया, मैं कामुक हो चुकी थी, पर उन्हने अभी तक अपना औज़ार नही निक्लाला था, मुझे लगा की वो शर्मा रहे होंगे, इश्स वजह से मैने ही उनके अंडरवेर को खोल दिया, पर हैरान रह गयी, उनका लॅंड करीब एक इंच का था वो भी सिकुड़ा हुआ कोई भी जान नही था, मैने पुछा ये क्या है.

वो घबरा गये, बोले की माफ़ करना किरण मेरा लॅंड खड़ा नही होता, मैने काफ़ी इलाज करवाया पर डॉक्टर ने कहा आपका लॅंड का नस कराब है, मैने रो पड़ी, मेरी चूत गीली हो चुकी थी, चूच टाइट हो गया था पर जब नदी मे गोते लगाने का समय आया तब तक नदी का पानी ही सुख गया, मैं क्या करती, मैने अपनी उंगली ही चूत मे डाली और अंदर बाहर करने लगी, मेरा पति वही चुपचाप बैठ कर देख रहा था, उसने मेरी चूत को छूने की कोशिश की पर मैने उससे एक लात मारा, बोली खबरदार मुझे कभी चुने की कोशिश की, तुमने मेरी ज़िंदगी बर्बाद कर दी.

दिन बीतते गये, मैं अपनी मा पापा के चलते उनको छोड़ नही पाई, क्यों की मेरे मा पापा काफ़ी उमर के है, ज़िंदगी के आखरी पड़ाव मे उन्हे कोई दुख नही दे सकती, इस वजह से मैने निश्चय किया की जो भी हो मैं ज़िंदगी यही काटूंगी, मेरे पति मुझे बहूत प्यार करते थे, पर वो भी क्या करते उनकी भी मजबूरी थी, मुझे इस बात का एहसास हुआ और मैने उनको माफ़ कर दिया.

पर मेरे ज़िंदगी मे खुशियों का दौर आया, मेरे सोसाइटी मे कई सारे सेक्यूरिटी गार्ड काम करते थे, उसमे से एक था कौशल जो हरयाणा का हट्ठा कठा नौजवान था, वो जब किसी काम से आता था तो मुझे घूरते रहता था, क्यों की मेरा सेक्सी फिगर और बड़ी बड़ी मस्त चुचियों की मालकिन थी, और मैं वेस्टर्न कपड़े पहनती थी जिससे मेरा शरीर पूरा दिखता था, मेरे मान मे एक बात आई क्यों नही इसको पटा के सेक्स किया जाए, पति से सिर्फ़ सेक्स नही मिल रहा था जिसकी भरपाई मैं इस गार्ड से कर सकती थी, तो जब भी मेरे पति टूर पे जाते थे, मैं कोई ना कोई बहाना बना के उस गार्ड को बुला लेती, एक दिन वो गुआर्द बोला मेडम आप बहूत सेक्सी लगती हो आप ये कहानी hindisexkahani.in पे पढ़ रहे है.

मैने कहा कौशल मैं तुमसे सेक्स संबंध बनाना चाहती हू, पर ये बात किसी से कहना नही, वो बोला नही मेडम मैं क्यों कहूँगा, आप ये समझ मेरे और आपके बीच में कोई भी रिश्ता नहीं है मैने कहा ठीक है पर तुम सही से नहा धोकर आओगे, मैने कहा कल सुबह मेरे पति टूर पे जा रहे है, रात मे अकेली रहूगी तुम आ जाना, वो तैयार हो गया बोला जी मेडम कल मेरे ऐसे भी नाइट ड्यूटी है. मैने कहा ठीक है तुम रात को 12 बजे आना. ठीक वैसा ही हुआ वो रात को 12 बजे आया मैने उसका इंतज़ार कर रही थी,

आते ही वो मेरे पे टूट पड़ा, वो मेरी चुचियों को मसलने लगा, मेरे होठ को चूसने लगा, मैने नाइट गाउन डाली थी उसको उसने तहस नहस कर दिया, वो भूखा भेड़िया की तरह मेरे उपर टूट पड़ा, मैने भी उसी नदी की धारा मे बहते हुए जा रही थी जैसा वो कर वाहा था मैं भी वैसा कर रही थी, दोनो मे भरपूर आग लग चुकी थी, वो मेरी चूत को चाटने लगा, मैं पानी पानी हो गयी थी, मेरे चूत से नमकीन पानी निकल रहा था और वो चाट रहा था, मेरी चूत को फाड़ के देखा और बोला मेडम जी, साहब आपको चोदते नही है क्या, आपको चूत तो नई की नई है, मैने कहा नही मैं उनसे प्यार नही करती, तो वो बोला मेडम जी मेरे मे क्या मिला आपको, तो मैने कहा तुम्हारा लॅंड, वो अपना अंडरवियर खोला और अपना मोटा लॅंड मेरे चूत के उपर रख के कस के डाल दिया. उसका ९ इंच का लैंड मेरे चूत में फड़ते चीरते चला गया,

मैं रो पड़ी दर्द काफ़ी होने लगा था, चूत से पहली बार खून निकला, आज पहली बार उसमे लॅंड गया वो भी मोटा और लंबा, मैने दर्द से तड़पने लगी, वो धीरे धीरे चोदना सुरू किया और फिर करीब 40-50 झटके लगाने के बाद मुझे काफ़ी जोश आ गया अब दर्द भी गायब था, मैं भी उसे अपनी बाहों मे लेके चुदवाने लगी, करीब 3 घंटे मे वो 3 बार चोदा , मैं उसी दिन पहली बार अपनी जिस्म की गर्मी को बुझाई थी, मैने भरपूर सेक्स का आनंद लिया, अब मैं पति के साथ खुशी खुशी रहती हू, कौशल जॉब छ्चोड़ दिया पर एक नया लड़का आया है, मैने उससे भी अपनी वासना का शिकार बनाया. अगर आप मे से कोई दिल्ली के आप पास या दिल्ली मे रहते है और सेक्स संबंध बनाना चाहते है तो कॉमेंट करे, मैं कॉंटॅक्ट करूँगी. मैं वो जन्नत का मज़ा दूँगी जो आजतक आपको कोई नही दिया होगा, पर ये सब किसी को पता नही चलनी चाहिए, ये मज़ाक नही हक़ीकत है, एक बार कॉमेंट कर के देखो मैं मैल करूँगी और फोटो भेजूँगी, नंगी नंगी मस्त मस्त.

3 comments

  1. i want to meet you darling

  2. i want to meet you darling

  3. Hu dear me rakesh 49 old near to u send me yr naggi pic on what’s up no 0971298913

Leave a Reply

वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें