शिवानी की मस्त चुदाई

अब पहले में आपको मेरे बारे में बता दूँ. में दिल्ली में रहता हूँ और एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ और फ्लेट में अकेला ही रहता हूँ. में एक जवान और सुंदर लड़का हूँ और अब में आपको ज़्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ. ये कहानी कुछ 6 महीने पहले की है और में रोज सुबह 8 बजे निकल जाता था और फिर दोपहर में आता था.

मेरे पड़ोस में मिस्टर शर्मा रहते है, वो बहुत बड़े एडवोकेट है और उनके एक मस्त सी वाईफ है शिवानी, जो पास के एक स्कूल में टीचर है, वो सुबह 8 बजे स्कूल जाती है और 1 बजे घर आ जाती है और फिर दिनभर घर में अकेली रहती थी. फिर एक दिन मेरी कंपनी में ऑफ था तो में आराम से सो कर उठा और सिगरेट पीने के लिए बिल्डिंग से बाहर जा रहा था तो मैंने देखा कि मेरे मकान के बाहर एक पैकेट पड़ा हुआ था. फिर उसने वो देखा और बेल बजाई, तो मैंने दरवाजा खोला और देखा तो शिवानी सामने खड़ी थी. फिर मैंने उसे अंदर बुलाया और हमारी थोड़ी देर तक बातचीत हुई, अब उससे मेरी अच्छी फ्रेंडशिप हो गयी थी.

फिर हमारी मुलाकात के कुछ 15 दिन बाद वो मेरे कमरे में बैठी थी. अब में उसके साथ मस्ती कर रहा था, तो मस्ती-मस्ती में मैंने उसे मेरे नीचे दबाया, तो फिर वो उठकर चली गयी. फिर दूसरे दिन वो मेरे कमरे में फिर से आई, लेकिन जब वो आने वाली थी उसके पहले मैंने अपने कंप्यूटर पर सेक्सी मूवी लगाकर रखी थी.

जब वो मेरे कमरे में आई, तो उसने देखा कि सेक्सी फिल्म चल रही है. फिर तब मैंने वो झट से बंद कर दी. अब मुझे पता था कि वो मुझे पूछेगी कि तुम क्या देख रहे थे? और फिर उसने वही पूछा. तो मैंने कहा कि कुछ नहीं, वो तुम्हारे काम की चीज नहीं है. फिर वो ज़िद करने लगी, तो तब मैंने उससे कहा कि में सेक्सी मूवी देख रहा था. फिर तब वो बोली कि मुझे भी देखनी है, तो फिर मैंने फिर से वो मूवी चालू कर दी.

फिर थोड़ी देर बाद में उसके करीब जाकर बैठा तो उसने मुझसे पूछा कि क्या तुमने कभी ऐसा किया है? तो मैंने कहा कि हाँ. अब में समझ गया था कि वो मुझसे चुदना चाहती है तो मैंने उसे झट से पकड़कर किस किया और फिर में धीरे-धीरे उसे चूमता रहा.

जब मुझे एहसास हुआ कि वो पूरी गर्म हो चुकी थी तो मैंने उसके कपड़े उतारना शुरू किया. अब उसके कपड़े उतरने के बाद उसकी कोमल नाज़ुक जवानी देखकर में थोड़ी देर तक दंग सा रह गया था, उसका फिगर बिल्कुल मस्त फिगर था, उसका फिगर साईज यही कोई 32-28-32 था, उसके बूब्स तो छोटे-छोटे और गोरे- गोरे थे, उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था और गुलाबी रंग की बड़ी रसीली चूत थी. फिर मैंने मेरे कपड़े भी उतार दिए और उसे मेरा लंड अपने मुँह में लेने के लिए कहा.

फिर तब वो बोली कि कितना बड़ा है तुम्हारा लंड, में तो मर जाउंगी, तो मैंने कहा कि चिंता मतकर मेरी जान में धीरे-धीरे करूँगा. तो फिर वो मेरा लंड अपने मुँह में लेकर 20 मिनट तक चूसती रही, वो पहली बार ये सब कर रही थी, लेकिन वो किसी अनुभव वाली लड़की की तरह ये सब कर रही थी. अब उसकी लंड चुसाई में ही मेरा पानी निकल गया था.

में उसकी चूत को चाटने और चूसने लगा, तो वो छटपटाने लगी, तो में मेरी जीभ उसकी चूत में डालकर उसे मेरी जीभ से चोदने लगा. अब मेरा लंड फिर से लोहे की तरह सख़्त हो गया था. फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और मेरा लंड उसकी चूत पर रखकर धीरे-धीरे अंदर डालने की कोशिश करने लगा, लेकिन पहली बार होने के कारण वो अंदर नहीं जा रहा था.

थोड़ी देर तक धीरे-धीरे करने के बाद में उसके लिप पर मेरे लिप रखकर उसे किस करने लगा और एक ज़ोर का झटका दिया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में अंदर चला गया, जिससे उसके मुँह से एक चीख निकल गयी, लेकिन उसकी चीख मेरे मुँह के अंदर ही दब गयी.

अब उसकी सील टूटने की वजह से उसका खून निकलना शुरू हो गया था और वो रोने लग गयी थी. फिर में थोड़ी देर तक उसकी टाईट और रसीली चूत में मेरा बड़ा और मोटा लंड डाले हुए बिना हीले उसके ऊपर ही पड़ा रहा और उसके बूब्स दबाता रहा और उसे किस करता रहा. फिर थोड़ी देर के बाद जब उसे कुछ अच्छा लगने लगा, तो तब मैंने झटके देना शुरू किया. अब में उसकी बिल्कुल फ्रेश चूत में मेरा बड़ा और मोटा लंड अंदर बाहर करके उसे चोद रहा था और वो भी नीचे से उसके कूल्हें उठा-उठाकर मज़े लेकर मुझसे चुदवा रही थी.

अब उसके मुँह से बड़ी अज़ीब सी आवाजे आ रही थी. अब वो मौन कर रही थी और मुझे ललकार रही थी और ज़ोर से चोदो अपनी रानी को, आज तुमने मुझे स्वर्ग का मज़ा दिया है, अब तो में तुमसे ही रोज़ाना ठुकवाया करूँगी, फाड़ दो अपनी रानी की चूत को, बना दो उसका भोसड़ा. अब उसके मुँह से ऐसी बातें सुनकर मुझे बड़ा आश्चर्य हुआ और करीब 30-35 मिनट तक उसे चोदने के बाद मैंने अपना रस उसकी चूत में ही डाल दिया और उसे गर्भ-निरोधक गोली लेने के लिए कह दिया.

फिर 2-3 दिन तक वो मेरे यहाँ आई नहीं, लेकिन उसके बाद जब भी हमें कोई मौका मिलता तो हम एक दूसरे में समा जाते है. मैंने आज तक उसे कितनी बार चोदा है? यह मुझे भी याद नहीं है, लेकिन आज भी में उसे बड़े प्यार और मजे से चोदता हूँ और वो भी चुदवाती है.

You might also like