Home / हिंदी सेक्स कहानियाँ / जवान लड़की / सिस्टर की फ्रेंड को चोदा

सिस्टर की फ्रेंड को चोदा

ये स्टोरी मेरी और मेरी सो कॉल्ड गर्ल फ्रेंड की है. जिसका नाम पायल (बदला हुआ नाम), जो की मेरी बड़ी दीदी की क्लोज फ्रेंड है. एक महीने पहले दिसम्बर की बात है. उसका हमेशा मेरे घर आना-जाना रहता है. वो मुझसे से बड़ी है, इसलिए मैं उसे हमेशा ही दीदी कहता हु. एकदम माल, रंग गोरा, हेयर लॉन्ग और ब्लैक, हाइट ५.६”, फिगर तो देखते ही मुह में पानी आ जाए ऐसा … अहहाह .. ३६डी-२८-३४. अब मैं स्टोरी पर आता हु.

पायल ज्यादातर पुरे दिन हमारे घर पर ही रहती है. वो और मेरी सिस एक कमरे में रहते है और मैं उसके साइड वाले कमरे में. हम दोनों की सिर्फ हाई- हेलो- बाई तक ही बात होती थी. एक दिन वो आई. मेरी सिस को पापा के कामसे पापा के ऑफिस जा के पैसे लाने थे. मेरे माँ-डैड दोनों बिज़नस करते है. सो, ज्यादातर घर पर मैं और मेरी सिस, हम दोनों ही होते है. उसने अपने जाने की बात पायल दीदी को शायद बताई नहीं और वो घर से चली गयी. थोड़ी देर बाद, उसकी दोस्त पायल घर आई और उसके बारे में पूछने लगी. जब मैंने उसे उसके जाने के बारे में बताया और उसको कहा – अगर तुम चाहो, तो उसका वेट कर सकती हो. वैसे मैं भी अकेले बोर हो रहा हो. शी सेड – ओके

मैं अपने कमरे में चले गया. उसने मुझे आवाज़ दी और मैं बाहर आ गया.

शी – कुछ पियोगे?

मैं – दीदी आएगी, तो चाय बना देगी. आप क्यों तकलीफ करती हो.

शी – मतलब, चाय पीनी है? (नॉटी स्माइल के साथ)

मैं – एक्चुअली

उसें पूछा – दूध कहाँ है? और बाकि सामान कहाँ है?

मैं (मन में) – दूध तो तुम्हारा ३६ वाला इसमें भर-भर के है. उसी को निचोड़ लो. शुगर की जरूरत भी नहीं पड़ेगी.

शी – हेलो?

मैं – हाँ, वो गैस के साइड में है.

फिर हमने साथ में लिविंग रूम में चाय पी टीवी देखते हुए. रोमेंटिक सोंग चल रहे थे. ठंडी के दिन और ऊपर से गरम चाय. वो भी गरम है देखने में. पहली बार उसे इतनी देर तक इतने पास से देखा.

शी – क्या देख रहे हो? टीवी देखो ना …

मैं – हाँ .. सॉरी

शी – अच्छा, तुम्हारी गर्लफ्रेंड क्या कह रही है? उसी से चैट कर रहे हो ना?

मैं – नहीं दी. ऐसे ही WAPपे ग्रुप पर मेसेज पढ़ रहा था.

शी – तो, क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?

मैं – नहीं, अभी तक कोई नहीं मिली.

शी – अच्छा मिल जाएगी. मुझे तो लगता है कि तुम जिसको प्रोपोज करोगे, वो मना नहीं कर पायेगी.

मैं – अच्छा, पक्का. ऐसा भी क्या?

शी – हाँ

मैं – तो आपका बॉयफ्रेंड तो होगा ही ना?

शी – नहीं रे. किसी पे ध्यान ही नहीं दिया.

मैं – तो अब देके देखो.

शी – सोच रही हु.

मैंने – क्या मतलब?

शी – कुछ नहीं.

फिर, मैं उनके साथ कुछ फ्लिर्टी बातें करने लगा. सोचा कि अगर तीर निशाने पर लगा, तो मस्त माल चोदने को मिलेगा.

मैं – पायल?

शी – ओह .. मिस्टर … फ़्लर्ट करते-करते दी से डायरेक्ट पायल.

मैं – अगर प्रॉब्लम है, तो बोल दो..

शी – नहीं. बोलो .. क्या चाहते हो, तुम?

मैं – तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो .. सच में. बहुत दिनों से सोच रहा हु कि आप को बोल दू. पर डरता था, कि कहीं आप ना ना कर दो.

शी – ओह .. तो ये बात है… इसलिए इतना फ्रेंडली बिहेव हो रहा है आज…

मैं – जी

शी – मुझे सोचना पड़ेगा. तुम छोटे हो. बस ये ही फरक है. वैसे तुम लड़के अच्छे हो.

मैं – देखो पायल. प्लीज … अभी बता दो. मुझे चिंता लगी रहेगी.

शी – देखो, मैं अपनी बेस्ट फ्रेंड के साथ धोखा नहीं कर सकती बट तुम्हारे जैसे लड़के को मना भी नहीं कर सकती.

मैं उठा और उसके पास जाकर बैठ गया. उसके हाथ पकडे और बोल दिया – आई लव यू.

उसके हार्टबीट बढ़ गये और उसकी गरम सांसे मेरे हाथो पर महसूस हो रही थी.

मैं – प्लीज बोलो ना.

शी – ऊऊक्के.. आई लव यू टू … रोहन.

मैं – आई वांट ऐ हग .. ऐ टाइट हग.

शी – तो आजा मेरा बच्चा.

इ ह्गेदहर टाइट. अपना हाथ उसकी पीठ के ऊपर से घुमाते हुए.. उसकी नैक तक ले आया. अपने दाए हाथ से उसका टॉप शोल्डर से सरकाया. इतना गोरा बदन देखके तो मेरा लंड बहुत टाइट हो गया था. मुझे कुछ सूझ नहीं रहा था. क्या करू और क्या नहीं?

शी – हेलो, हग कर रहे हो, या कुछ और? इरादा क्या है?

मैं – जी भर के प्यार करने का.

शी – तुम्हारी सिस आ जाएगी. अभी मैं कल आउंगी. तब जो चाहो, जितना चाहो .. उतना कर लेना. खा जाना मुझे पूरा. मैं भी तुम्हारे प्यार के लिए तड़प रही हु.

मैं – ठीक है एंड आई किस ओन हर लिप्स.

उसने भी पूरा साथ दिया, टंग से खेल रही थी मेरी वो.

थोड़ी देर बाद, मेरी सिस आ गयी. कुछ देर बाद, पायल अपने घर वापस चली गयी.

रात को उसका मेसेज आया.

शी – हाई हॉट. व्हाट आर यू डूइंग?

मैं – नथिंग. मिस्सिंग यू हनी.

शी – अच्छा बेबी. आई ऍम कमिंग टुमारो ना.. जस्ट वेट.

शी – अच्छा बताओ ना. क्या पहनू तुम्हारे लिए?

मैं – वैसे तो कार से आओगी. तो मैं तुम्हे वन पिस में देखना चाहता हु.

शी – अच्छा, मेरे बेबी. अभी से पोस्सेस्सिव.

मैं – नहीं ऐसा कुछ नहीं है. बस इच्छा है देखने की.

शी – अच्छा, ठीक है और अन्दर?

मेरा तो फिर से खड़ा हो गया. मैंने कण्ट्रोल किया और फिर रिप्लाई किया.

मैं – ब्लैक ब्रा एंड पेंटी विथ ट्रांसपेरेंसी.

शी – ओके बेबी. नाउ स्लीप वेल एंड गुड नाईट. हेव ऐ सेक्सी ड्रीम विथ मी.

मैं – आ जाओ, मेरे कम्बल में.

शी – देखो. लो मैं आ गयी

इमाज़िन करते-करते सो गया.

दुसरे दिन, वो आई. सिस को दुसरे फ्रेंड के घर पर बुलाया था और खुद इधर आ गयी थी.

मैं – वोवो, पायल लूकिंग कयूट इन ब्लैक. इट्स सूट यू.

शी – मेरे बेबी के लिए, इतना तो कर ही सकती हु ना.

मैं – अब ज्यादा बातें नहीं. चलो बेडरूम तुम्हारा वेट कर रहा है.

शी – रुको मेरी जान.

मैं – नहीं.

और उसे उठाया और ऊपर बेडरूम में लेके गया. और फेंक दिया बेड पर.

वो सीधी लेटी थी. उसके गोरे-गोरे चिकने पैर दिखने लगे थे मुझे. मुझसे रहा नहीं जा रहा था और मैं उनपर टूट पड़ा.

पहले उसके पैरो से शुरू किया. उनको चाटा और उनको किस करते हु और उसकी ड्रेस से उसके बदन को किस करते हुए उसकी चेस्ट पर आ गया और किस करने लगा. फिर, मैंने उसके गले को किस कर रहा था और चाट रहा था.

वो जोर से मोअन कर रही थी.

शी – ओहोहोहोह जन्न्न्नूऊऊ. यू अरे सूऊऊ हॉटटट.. कबसे तुम्हे लाइक करती थी. फाइनली, जान आई लव यू सो मच. उसके इतना बोलते ही, मैंने अपने लिप्स उसके लिप्स से जोड़ दिए और उनको चूसने लगा. मैं उसके लिप्स को हॉर्स सक कर रहा था.

शी – धीरे, खा जाओगे क्या, इन्हें? तुम्हारी ही हु बाबा..आराम से करो.

फिर मैंने उसे बिठाया और उसके वन पिस की चैन खोलनी शुरू कर दी. साथ ही उसके शोल्डर को चाटना भी शुरू किया. वो जोर-जोर से मोअन कर रही थी. उसका वन पिस निकालने के बाद, मैं उसे देखता ही रह गया. ब्लैक ट्रांसपेरेंट ब्रा और पेंटी में वो इतनी माल दिख रही थी, क्या बताऊ. उसे लिटाया और फिर उसके पेट पर अपनी टंग घुमाना चालू किया. उसके गुद्गुद्दी होने लगी और उसके मुह से सिस्कारिया निकल रही थी अहह्ह्ह्हह्ह्ह्ह म्म्मम्म्म्मम्म. फिर, मैंने उसकी थाई को चाटना शुरू किया. वो उठी और मुझे धक्का देके बेड पर लिटाया. अब वो मेरे कपडे उतारने लगी. धीरे-धीरे किस करते-करते जब वो नीचे आई तो बोली.

शी – वो, हनी इतना बड़ा. इसे लेने में मजा आएगा. दोगे ना?मेरा

लंड ७ इंच लम्बा और ३ इंच मोटा है.

मैं – हाँ स्वीटहार्ट.

फिर उसने चुसना शुरू किया. मुझे तो जैसे जन्नत मिल गयी हो.

मैं – अहहहः आआआआ म्मम्मम हनी. कितना प्यारा चुस्ती हो? तुम काश हमेशा ऐसे ही रहो. मुझे भी तुम्हारी चूत को चाटना है. प्लीज दो नाआआआ.

शी – ले लो नाआआआअ, ये बस तुम्हारी ही है.

फिर हम दोनों ६९ में आ गये. फिर मैंने एक ऊँगली डालकर उसकी चूत के होल को चुसना शुरू किया. वो ऐसे ही मोअन करने लगी, कि निग्रा फॉल आ जायेगा, मेरे मुह में.

मैं – मैं छुटने वाला हु. रुको मैं तुम्हारी चूत में छुटना चाहता हु और मुझे तुम्हारा रस पीना है.

शी सेड ओके और फिर जोर-जोर से चुसना शुरू कर दिया और वो जोर से कहराने लगी.

शी – फ़ास्ट जानू… फ़ास्ट प्लीज. डोंट स्टॉप प्लीज. उसने अपने हाथ से मेरा सिर पकड़कर अन्दर घुसाना शुरू कर दिया. फ़ास्ट .. फ़ास्ट .. और भी ज्यादा फ़ास्ट… जानू .. एस एस … आई ऍम कमिंग.. प्लीज डोंट स्टॉप.

थोड़ी देर में उसने मेरे मुह में अपना पूरा पानी निकाल दिया और मैं उसे पूरा चाट गया.

जो थोड़ा बहुत लगा था मुहपे, वो उसने अपनी टंग से चाटकर साफ़ कर दिया.

मैं – अब नहीं रहा जाता. प्लीज. आई वांट टू फक यू.

शी – तो आ जाओ राजाआआआआआ. करलो फक.

थोड़ी देर उसने फिरसे मुहमे मेरे लंड को चुसना शुरू किया. फिर मैं बोला, मुझे तुम्हारी गांड देखते हुए चोदना है. डौगी स्टाइल में आ जाओ.

शी – ओके, मेरी जान.

फिर मेने अपना लंड आधा डाला, तो उसकी चीख निकल गयी और बोली – नहीं करना. प्लीज इसे बाहर निकालो. कभी और बाद में देखेंगे.

मैंने कहा – नहीं अभी करना है. प्यार करती थी मुझसे बेचारी. मान गयी.

मैंने दूसरा झटका मारा थोडा जोर से. मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया. उसकी चूत से खून बाहर आने लगा. उसकी आँखों में आसू आ गये. मैं चाहता तो नहीं था, फिर भी पूछने के लिए कहा – जान, तकलीफ ज्यादा हो रही है? नहीं करता हु. छोड़ देता हो. अगर तुम चाहो. मुझे तुम्हे ऐसे देखकर बड़ा दुख हो रहा है.

शी – अरे जान, माय बेबी. इतना केयर करते हो. प्लीज डोंट वोर्री. अपनी जान के लिए इतना दर्द तो सह ही सकती हु.

बस फिर मैंने शॉट मारना शुरू किया और बादमे उसे भी मज़ा आने लगा.

शी – अहहहहः म्म्मम्म्म्मम्म ऊऊऊऊ जानन्न्न्नन्न्न्नन्न और जोर से करो नाआआआअ. मज़ा आ रहा है. ऊऊऊऊओ म्म्मम्म्म्मम्म. जान, मैं आने वाली हु. आई ऍम अबाउट टू कम. अहहाह ,,,ऊऊओ. प्लीज डोंट स्टॉप. अहहाह……..ह्म्हम्हम्ह्म … प्लीज डोंट स्टॉप. हहहहः.

और वो छुट गयी. उसका ओर्गेसम इतना हो गया, कि वो वाइब्रेट होने लगी.

मैं – जान, मैं भी छुटने वाला हु. अहहहहहः .. एस एस एस … ऊऊओहोहोहोहो… हग मी टाइट. हाहाहा एस एस एस एस …म्म्म्मम्म्म्मम्म

और १५-२० मिनट के बाद, मैं भी छुट गया, उसकी चूत में. फिर हम साथ में नहाये. वो मेरा पहला फक था, जिसमे हम दोनों मस्त मज़ा आया.

वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें