Home / Tag Archives: bhabi ki chudai in Hindi and Urdu language

Tag Archives: bhabi ki chudai in Hindi and Urdu language

पड़ोस के भैया ने मुझे चोदा

मेरा नाम अलंकृता है. यह घटना तब की है जब मैं 12वीं कक्षा में थी. मेरे माँ-पिता जी का समय-समय पर गाँव जाना रहता था. मैं खुद अपने मुँह मियाँ-मिट्ठू तो नहीं होना चाहती, पर हकीकत यही है कि मैं दिखने में खूबसूरत हूँ, लड़के हमेशा से मेरे आशिक रहे हैं. …

Read More »

हाईवे पर मुझे कुंवारी चूत मिल गयी

मेरी स्टोरी सत्य घटना हैं. वेसे रंडी तो हाईवे पर मिल जाती हैं लेकिन मुझे तो कुवारी चुत मिल गई. कहानी पे आता हु यारो… बात उस समय की हैं जब मैं बारहवीं की परीक्षा पास करके अपने गाँव वापस आया। शहर में रहकर मैं बहुत बिगड़ गया था और …

Read More »

4 साल बाद मिली बहन की चूत

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम समीर है और में उत्तरप्रदेश का रहने वाला हूँ. ये स्टोरी जो अब में आप लोगों को बताने जा रहा हूँ वो मेरी और मेरी बहन के बारे में है. मेरी फेमिली में 7 लोग है. ये कहानी आज से 2 साल पहले की है, लेकिन …

Read More »

भाई से हवस का बदला लिया

हैल्लो दोस्तों, यह मेरी एक सच्ची कहानी नहीं बल्कि मेरा वो रोचक सेक्स अनुभव है, जिसको में आज आप सभी वालों के लिए लेकर आई हूँ, जिसमें मैंने अपने भाई के साथ एक अलग तरह से अपनी चुदाई का मज़ा और उसको सज़ा देने का एक नया तरीका खोज निकाला …

Read More »

गुलाबी चूत ने मेरा दिल मोह लिया

मैं xVasna.com पर नया हूँ लेकिन मैंने अभी तक की सारी कहानियाँ पढ़ ली हैं ! आज मैं आपके सामने अपनी एक सच्ची कहानी लेकर आया हूँ, इस कहानी में मैंने सभी पात्रों के नाम बदल रखे हैं। अब मैं अपनी कहानी पर आता हूँ, मेरा नाम आदित्य सिंह है, …

Read More »

डाकू ने मेरी रंडी माँ को चोदा

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम उमेश है, यह स्टोरी मेरी माँ और एक डाकू के बीच की है. अब में आपको मेरी माँ के बारे में बता देता हूँ. यह 12 साल पहले की बात है, जब मेरी माँ की उम्र 35 साल थी और उनका फिगर साईज 34-29-36 है, उनके …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें