Home / Tag Archives: gand chodi

Tag Archives: gand chodi

गांड से पहले चुत को खुश किया (Gand se pahle chut ko khus kia)

हाई दोस्तों, आज जो में कहानी आपको बताने जा रहा हू वो सुनीता नाम कर के वक आंटी के साथ हुआ था, जो करीब ४८ की थी | असल में वो मेरी दोस्त की मोम थी, उनकी जिस्म एक दम एक नयी लड़की की तरह थी और गांड तो इतने …

Read More »

फेसबुक की वजह से गांड फट गई

फेसबुक फेसबुक….साला जिसे देखो उसे फेसबुक की गांड मारने पे लगा हुआ हैं. मुझे भी एक साल पहले फेसबुक के उपर चेट करना और लाइक करना वगेरह बहुत अच्छा लगता था. लेकिन इसी फेसबुक की वजह से मेरी ऐसी गांड फटी, जिस से मैंने फेसबुक को डिवोर्स दे दिया. मैं …

Read More »

भाई से अपनी चूत की सील खुलवा ली (Bhai se apni chut ki seal khulwa li)

हैलो फ्रेंडस.. मेरा नाम प्रीति सिंह है और मेरी सेक्स स्टोरी मैं आप लोगों को सुनाने जा रही हूँ.. यह मेरे जीवन का पहली बार का सेक्स था। मेरे घर में हम 4 लोग रहते हैं जिनमें मेरे अलावा मेरे पापा-मम्मी और भाई हैं। हम लोग मथुरा में रहते हैं, …

Read More »

मेरी प्यारी बीवी राण्ड निकली

हाय फ़्रेन्ड्स, मेरा नाम मनीष है। यह मेरी पहली कहानी है तथा पूरी तरह सच्ची है। मेरे साथ ऐसा वाकिया हुआ जिसे मैं आप लोगों को बताना चाहता हूँ। मेरी शादी 8 साल पहले सीमा से हुई थी। सीमा बहुत ही खूबसूरत लड़की है। उसका 34-28-36 का मदमस्त बदन.. किसी …

Read More »

डिम्पल के निप्पल

हैल्लो दोस्तों.. में उम्मीद करता हूँ कि यह बहुत अच्छा टाईम है आप सभी को अपनी एक सच्ची कहानी बताने का इसलिए में आप सभी के सामने मौजूद हूँ. आप ही की तरह में भी इस साईट का बहुत बड़ा फैन हूँ. दोस्तों मेरा नाम मोहित है और में कानपुर …

Read More »

स्टूडेंट की माँ की बुरी तरह से चुदाई (Student ki Ma ki Buri Tarah se chudai)

प्रेषक : राहुल शर्मा … हैल्लो मेरे प्रिय मित्रो, में राहुल आज आप सभी के सामने हाज़िर हूँ अपनी एक सच्ची कहानी लेकर और यह आप लोगों के लिए कहानी ही होगी, लेकिन यह मेरी लाईफ की एक सच्ची घटना है, जो अभी एक सप्ताह पहले मेरे साथ घटित हुई। …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें