Home / Tag Archives: gand me chudai

Tag Archives: gand me chudai

मइके आई पड़ोसन लड़की को चोदा

हाय फ्रेंड्स में हूँ अभी. और मेरी उम्र २१ साल हे और में चोदाई की कहानी पढने का बहोत सोखिन हूँ और में पटना बिहार से हूँ. तो आपको ज्यादा बोर ना करते हुए स्टोरी पे आता हूँ. ये एक रियल स्टोरी हे मेरी.  पड़ोस वाली एक मेरिड लड़की को …

Read More »

ट्रेन में मिली चूत सहलाने को (Train me mili chut sahlane ko)

हेलो फ्रेंड्स, कैसे है आप लोग. मेरा नाम नवीन है और आज मैं आके सामने अपना एक सेक्स अनुभव रख रहा हु. यहाँ पर मैंने बहुत सी कहानिया पढ़ी है. वो सब सच्ची है या नहीं, ये तो मैं नहीं जानता. लेकिन, आप को विश्वास दिलाता हु. कि ये मेरा …

Read More »

Didi Ki Gaand Maari Jabardast Tareeke Se

Hi friends, mera naam Abhishek hai(name changed) main punjab me in rehta hu and Punjabi family ko hi belong krta hu, mere ghar me in main air mere papa rehte haim, mom ki death ho chuki hai, an main apni story pe aata hi, ye ek sachi story has bilkul …

Read More »

मेरी बीवी को ट्राई करोगे – 3

प्रेषक : अरमान “मेरी बीवी को ट्राई करोगे – 2” से आगे की कहानी … दोस्तों यह इस कहानी के आखरी भाग है जिसमे में आप सभी को आज अपनी बीवी की उस सच्चाई के बारे में बताऊंगा.. जिसमे मेरी बीवी को बड़ा लंड बहुत पसंद है लेकिन वो मुझसे …

Read More »

मेरी बीवी को ट्राई करोगे – 2

प्रेषक : अरमान “मेरी बीवी को ट्राई करोगे – 1” से आगे की कहानी… दोस्तों में फिर लेकर आया हूँ इस कहानी का दूसरा भाग। तो फिर में थोड़ी देर बाद बाथरूम जाने का बहाना करके घर के पीछे गया और फिर मैंने कचरे के डब्बे में देखा तो कचरे …

Read More »

अंकल ने मुझे अपने दोस्त से चुदवाया (Uncle ne mujhe apne dost se chudwaya)

प्रेषक : प्रियंका … हैल्लो दोस्तों, कैसे हो आप? में उम्मीद करती हूँ कि आप सभी बिल्कुल ठीक हो। दोस्तों मेरा नाम प्रियंका है और मेरी उम्र 23 साल है और में दिखने में एकदम सेक्सी लगती हूँ। हर कोई मुझे देखकर मेरे जिस्म का दीवाना हो जाता है, क्योंकि …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें