Home / Tag Archives: gand me land

Tag Archives: gand me land

दोस्त की बीवी ने होश उड़ा दिये

हैल्लो दोस्तों, में पिछले करीब दो साल से सेक्सी कहानियाँ पड़ता आ हूँ और में बहुत मज़े भी करता हूँ. दोस्तों यह बात करीब 8 साल पुरानी है. उस समय मेरा एक दोस्त था उसके घर पर मेरा आना जाना बहुत था. मेरे उससे करीब घर की तरह रिश्ता था. …

Read More »

मेरी बड़े boobs और चिकनी चूत वाली सेक्सी बॉस

हेलो मेरा नाम अवि है और मैं इंदौर से हूँ. यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है. मैंने बहुत सी सेक्स स्टोरी पढ़ी है, तो सोचा आज अपना भी एक्सपीरियंस शेयर करू. तो आपका जयादा समय न लेते हुए मैं स्टोरी पर आता हूँ. इंदौर में मैं एक सॉफ्टवेयर कंपनी में …

Read More »

नंगी बुआ की चूत चोदी – Nangi bua ki chut chodi

प्रेषक : राज … हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राज है और में भोपाल का रहने वाला हूँ, लेकिन में अभी बंगलोर में एक प्राईवेट कम्पनी में नौकरी करता हूँ। मेरी उम्र 30 साल, कद 6.2 है। दोस्तों यह कहानी जो में आज आप सभी को कामुकता डॉट कॉम पर सुनाने …

Read More »

आंटी ने गांड चुदाया दूकान में

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम विक्की है और में आपके लिए अपनी एक और सच्ची कहानी लेकर आया हूँ. जब ये घटना घटी उस समय मेरी उम्र 19 साल थी और में जब 12वीं क्लास में पढ़ता था. हमारी गली के मोड़ पर एक स्टेशनरी शॉप हुआ करती थी. में वहाँ …

Read More »

भावना और कंचन भाभी की चूत चुदाई -3

This story is part of a series: भावना और कंचन भाभी की चूत चुदाई -2 अब तक आपने पढ़ा.. मैंने जीभ को टाइट करके उसकी बुर के छेद में घुसा दिया था। अन्दर से बहुत गर्म थी साली की चूत.. वो लगातार ‘आअह्ह्ह.. आहह्ह्ह..’ करती जा रही थी। मैं समझ …

Read More »

अपनी मौसी की गाण्ड

बात उन दिनों की है जब मेरी 35 वर्षीय मौसी अपने 3 बच्चों के साथ सहारनपुर से आई थी। उनकी शादी 16 साल पहले एक सरकारी कर्मचारी की साथ हुई थी। अवनी मौसी अपने फिगर का बहुत ख्याल रखती थी। उनका रंग गोरा, गाल गुलाबी थे, पर चुँचियां बहुत बड़ी …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें